October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

निशंक ने शिक्षकों को दिया पांच ‘टी’ और चार ‘क्यू’ का मंत्र

नई दिल्ली:- केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शनिवार को शिक्षक दिवस के मौके पर उन्हें पांच ‘टी’ और चार ‘क्यू’ का मंत्र दिया। निशंक ने ‘राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार’ समारोह में वर्चुअल माध्यम से शामिल होते हुए अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि शिक्षकों को पांच ‘टी’ अर्थात ट्रांसफॉर्म, टैलेंट, टेम्परामेंट, ट्रेजर और ट्रेनिंग उनके लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि शिक्षक को परिवर्तनकारी होने के साथ ही प्रतिभा की पहचान करने वाला होना चाहिए। वह सहनशीलता के साथ ही ज्ञान का भंडार हो। इतना ही नहीं वह संस्थागत और व्यक्तिगत विकास की दृष्टि से भी सक्षम होना चाहिए। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने चार ‘क्यू’ अर्थात आई क्यू, ई क्यू, एस क्यू और टी क्यू के सिद्धांत का उल्लेख करते हुए कहा कि शिक्षकों को दिन बिंदुओं को लेकर आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि शिक्षक को बुद्धिमता, भावनात्मकता, आध्यात्मिकता और तकनीकी क्षेत्र में आगे बढ़ना होगा। निशंक ने कहा गुरु शिष्य परंपरा हमारी पहचान रही है। अच्छे जीवन के लिए अच्छी शिक्षा होना अनिवार्य है। गुरु राष्ट्र निर्माण में योगदान देता है। नई शिक्षा नीति के संबंध में निशंक ने कहा कि नई शिक्षा नीति हमें ज्ञान की महाशक्ति बनाएगी। उन्होंने अपने भाषण में पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन, डॉ अब्दुल कलाम आजाद और प्रणब मुखर्जी का भी उल्लेख करते हुए कहा कि इन तमाम लोगों ने सर्वोच्च पदों पर पहुंच कर भी उत्कृष्टता को बरकरार रखा।

Recent Posts

%d bloggers like this: