October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

खाकी का रोब नहीं, खाकी के प्रति गर्व होना चाहिए: प्रधानमंत्री

आईपीएस प्रोबेशनर्स को दी नसीहत

नई दिल्ली:- प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने शुक्रवार को हैदराबाद स्थित सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में आयोजित दीक्षांत परेड समारोह के दौरान आईपीएस प्रोबेशनर्स के साथ वीडियो-कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बातचीत की। इस मौके पर आईपीएस प्रोबेशनर्स को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पुलिस की खाकी वर्दी का रोब नहीं अपितु उसके प्रति गर्व का भाव होना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि इन दिनों टेक्नोलॉजी हमारी बहुत मदद कर रही है लेकिन इन दिनों जितने भी पुलिसकर्मी सस्पेंड हो रहे हैं उसका कारण भी तकनीक है। आपको इस पर बल देना होगा कि टेक्नोलॉजी का कैसे ज्यादा से ज्यादा सकारात्मक उपयोग हो। इस मौके पर उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में दल कोई भी हो, जनप्रतिनिधि का एक बड़ा महत्व होता है। जनप्रतिनिधि का सम्मान होना चाहिए। जनप्रतिनिधियों के साथ मतभेद हो सकते हैं लेकिन उसे दूर करने का एक तरीका होता है जिसे सभी को अपनाना चाहिए।
पुलिस फोर्स में तनाव को दूर करने के लिए योगा करने की सलाह देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जिंदगी के सभी कामों में हर किसी को तनाव रहता है, ये जीवन का हिस्सा है। लेकिन ये ऐसी चीज नहीं है जिसे मैनेज न किया जा सके। अगर हम साइंटिफिक तरीके से अपने व्यक्तित्व को अपनी क्षमताओं और अपनी जिम्मेदारियों को संतुलित तरीके से व्यवस्थित करें तो इसे आसानी से मैनेज कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि तनावपूर्ण जीवन जीने वाले सभी व्यक्ति को योगा और प्राणायाम करना चाहिए। इससे काम कितना भी होगा, मन प्रसन्न रहेगा।
उल्लेखनीय है कि भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 131प्रोबेशनरों में 28 महिला प्रोबेशनर शामिल हैं, जिन्होंने इस अकादमी में बुनियादी पाठ्यक्रम चरण-1 के 42 सप्ताह पूरे कर लिए हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: