October 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बेरोजगारी और कमजोर अर्थव्यवस्था को लेकर प्रियंका गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कही ये बड़ी बात

नई दिल्ली:- कोरोना वायरस और पूर्वी लद्दाख में चीन से तनातनी के बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर बढ़ती बेरोजगारी और कमजोर अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला है। प्रियंका गांधी ने लंबे समय से रूकी एसएससी और रेलवे की परीक्षाओं को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला और कहा कि युवाओं को भाषण नहीं नौकरी चाहिए।

प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज मंगलवार को मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि एसएससी और रेलवे ने कई सारी परीक्षाओं के परिणाम सालों से रोक कर रखे हैं।किसी का रिजल्ट अटका हुआ है, किसी की परीक्षा. कब तक सरकार युवाओं के धैर्य की परीक्षा लेगी, कब तक? युवाओं की बात सुनिए सरकार। युवा को भाषण नहीं नौकरी चाहिए।

इससे पहले प्रियंका गांधी ने धड़ाम से गिरे जीडीपी पर भी आज ही हमला बोला था. उन्होंने कहा कि आज से 6 महीने पहले राहुल गांधी जी ने आर्थिक सुनामी आने की बात बोली थी. कोरोना संकट के दौरान हाथी के दांत दिखाने जैसा एक पैकेज घोषित हुआ. लेकिन आज हालत देखिए. जीडीपी @-23.9% जीडीपी. भाजपा सरकार ने अर्थव्यवस्था को डुबा दिया.

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जीडीपी को लेकर ट्वीट करते हुए कहा था, ‘GDP 24% गिरा। स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट, सरकार का हर चेतावनी को नजरअंदाज करते रहना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। बढ़ती बेरोजगारी और नौकरियों को लेकर होने वाली परिक्षाओं के लटने होने पर कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने केंद्र की मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि विश्वासघाती मोदी सरकार! रेलवे, NTPC/ग्रुप डी की नौकरी के लिए 2,50,00,000 बेरोजगार छात्रों ने 1000,00,00,000 दे कर फॉर्म भरे।

2 साल से केवल इंतजार. SSC (2018) की प्रक्रिया तो लगता 3-4 साल चलेगी? सवालों का जवाब चाहिए, युवा को रोजगार चाहिए। इसके साथ ही सुरजेवाला ने हैशटैग स्पीक अप फॉर एसएससी रेलवे स्टूडेंट्स के जरिए सरकार से जवाब भी मांगा है। कांग्रेस की ओर इस हैशटैग के साथ अभियान चलाया जा रहा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: