October 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मोहम्मद हफीज ने करीब 40 साल उम्र में बनाया T20I का सर्वश्रेष्ठ स्कोर, पाकिस्तान को मिली जीत

नई दिल्ली:- पाकिस्तान व इंग्लैंड के बीच खेले गए तीन मैचों की टी20 सीरीज के आखिरी मुकाबले में मेहमान टीम को जीत मिली। पाकिस्तान की इस जीत में टीम के सबसे सीनियर बल्लेबाज मोहम्मद हफीज का सबसे बेहतरीन योगदान रहा।

इस मैच में पाकिस्तान की टीम को इंग्लैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का न्योता दिया और पहले बल्लेबाजी करते हुए इस टीम ने मोहम्मद हफीज और हैदर अली के अर्धशतक के दम पर 20 ओवर में 4 विकेट पर 190 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 20 ओवर में 8 विकेट पर 185 रन ही बना पाई और पाकिस्तान को 5 रन से जीत मिली। इसके साथ ही टी20 सीरीज 1-1 से ड्रॉ रही और बाबर आजम की कप्तानी में टीम को इंग्लैंड में इस दौरे पर पहली जीत मिली। पाकिस्तान की टीम ने जीत के साथ इस दौरे का समापन किया।

मो. हफीज ने 39 साल 320 दिन की उम्र में बनाया T20I का बेस्ट स्कोर

मो. हफीज की जितनी तारीफ की जाए वो कम है। इस उम्र में वो टी20 क्रिकेट में जिस तरह का प्रदर्शन कर रहे हैं वो तारीफ के काबिल है। दूसरे टी20 मैच में भी उन्होंने टीम के लिए अर्धशतकीय पारी खेली थी और एक बार फिर से तीसरे मैच में भी उन्होंने 52 गेंदों पर 4 चौके व 6 छक्कों की मदद से टीम के लिए नाबाद 86 रन की पारी खेली। उनका स्ट्राइक रेट 165.38 का रहा। हफीज ने 39 साल 320 दिन की उम्र में अपने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की सबसे बेस्ट पारी खेली जो नाबाद 86 रन की रही।

टी 20 क्रिकेट के इतिहास में सिर्फ सनथ जयसूर्या ही एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने हफीज से भी ज्यादा उम्र में एक पारी में 75 रन से ज्यादा बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड बनाया था। जयसूर्या ने 39 साल 345 दिन की उम्र में 2009 टी20 वर्ल्ड कप में 81 रन की पारी खेली थी। यही नहीं हफीज ने 38 साल की उम्र के बाद पाकिस्तान की तरफ से टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में चार बार 50 या फिर उससे ज्यादा का स्कोर बनाया है। मो. हफीज को उनकी बेहतरीन पारी के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ के साथ-साथ ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ भी चुना गया।

Recent Posts

%d bloggers like this: