October 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सेल बोकारो प्रबंधन मांगों को अविलंब पूरा करें अन्यथा उत्पादन करना होगा मुश्किल – राजेंद्र सिंह

रांची:- आज दिनांक 1/9/2020 (मंगलवार) को दिन के 1:00 बजे क्रांतिकारी इस्पात मजदूर संघ (एच एम एस )के हजारों मजदूरों ने सेल बोकारो प्रबंधन के मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ ईडी वर्क्स कार्यालय पर विशाल आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन किया। इस विशाल आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन को संबोधित करते हुए महामंत्री सह सदस्य एनजेसीएस श्री राजेंद्र सिंह ने कहा कि बोकारो स्टील के मजदूर हमेशा से अपनी मेहनत के बल पर प्लांट को उत्पादन, उत्पादकता एवं गुणवत्ता में सर्वश्रेष्ट बनाकर रखा है ।अभी इस कोरोना के काल में भी मजदूरों ने जी जानकर लगाकर उत्पादन किया है परंतु मजदूरों के मांगो एवं समस्याओं पर बोकारो प्रबंधन का रुख ना सिर्फ उदासीन है बल्कि मजदूरों के दमन के लिए नित्य नए षड्यंत्र रच रही है ।वेज रिवीजन आज 44 महीनों से लटका हुआ है ,लीव एनकैशमेंट अभी भी बंद है इन दोनों मुद्दों पर प्रबंधन जल्द से जल्द फैसला ले और अक्टूबर से पहले लागू करें। दुर्गा पूजा से पहले बोनस का फैसला करें वर्तमान में कोरोना संक्रमण के काल में बीएसएल में कार्यरत सभी मजदूरों का चाहे वह नियमित कर्मचारी हो या ठेका मजदूर हो सभी का किसी बड़े अस्पताल से समझौता कर निशुल्क कोरोना टेस्ट किया जाए एवं संक्रमित पाए जाने पर निशुल्क इलाज की व्यवस्था की जाए तथा कोरोना संक्रमण से अगर किसी भी मजदूर को जान गंवानी पड़ती है तो उसको कार्य के दौरान दुर्घटना माना जाए एवं तत्काल उसके आश्रित को नियोजन एवं मुआवजा दिया जाए ।पूरे शहर एवं पूरे प्लांट को सेनीटाइज किया कराया जाए ।मेन पावर के अभाव में प्लांट को जैसे तैसे असुरक्षित ढंग से चलाया जा रहा है आईईडी विभाग द्वारा सर्वे कराकर तत्काल मैन पावर की कमी को पूरा किया जाए तथा सभी अप्रेंटिस पास कर चुके मृत कर्मचारी के आश्रितों को उम्र सीमा समाप्त करते हुए एकमुश्त नियोजन दिया जाए। वर्षों से मजदूर ग्रेड की लड़ाई लड़ रहे हैं ग्रेड व्यवस्था में सुधार करते हुए A.T.T एवं O. T. T को क्रमश: एस 3 एवं S6 ग्रेड दिया जाए।वर्षो पुराने इंसेंटिव रिवार्ड एवम् मनी टेबुल का नवीनीकरण किया जाय। ठेका मजदूरों की हालत दिन-ब-दिन दयनीय होती जा रही है आज भी इस महंगाई के दौर में झारखंड सरकार के भवन निर्माण का वेज लागू है इसको दुरुस्त करते हुए सेंट्रल वेज लागू किया जाए ।कोक ओवन के बैटरी नंबर 5 के बाकी बचे 14 मजदूरों का गेट पास जल्द दिया जाए एवं बैटरी नंबर 8 के रिबिल्डिंग के कार्य जो 30 महीने का था अभी 44 महीने बीत जाने के बाद भी मात्र 50% कार्य पूरा हुआ है इस देरी के लिए जिम्मेदार अफसरों पर कार्यवाही एवं ठेकेदार पर पेनाल्टी लगाया जाए। बोकारो जनरल अस्पताल की दुर्दशा भी जगजाहिर है जीवनदायी अस्पताल मेन पावर की कमी ( डॉक्टर, नर्स, ड्रेसर, टेक्नीशियन एवम् वार्ड -ब्वाय ) के कारण हेल्थ सेंटर में तब्दील हो गया है। पूरा शहर आवास, रोड ,नाला- नाली ,बिजली मेंटेनेंस के अभाव में खंडहर बन चुका है। श्री सिंह ने बोकारो प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर जल्द से जल्द सभी मुद्दों पर सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया तो प्लांट में उत्पादन करना मुश्किल हो जाएगा।इस विशाल आक्रोश पूर्ण प्रदर्शन मे श्री आर के सिन्ह, श्री रामलाल, श्री एस सी कुम्भकार, श्री रमेश राय, श्री जितेंद्र सिंह, श्री शशिभूषण, श्री पवन, श्री रमेश, श्री पी के देव, श्री दीनानाथ, श्री विनोद सिंह, श्री अरूण कुमार, श्री दुर्गेश कुमार, मो इरफान, श्री ओमप्रकाश, श्री अमिताभ, श्री मधु,श्री पी. पी. भगत, श्री सुमन, श्री रमेश कुमार, श्री प्रमोद कुमार, श्री संतोष रजक, श्री पंकज कुमार, श्री सत्येंद्र महतो,श्री सुमन पासवान, श्री शम्भू प्रसाद, श्री कमलेश कुमार, श्री भीष्म कुमार, श्री अमर जीत कुमार, श्री श्रीकांत राय,श्री बी. बी गुप्ता, श्री एस के ओझा, श्री मनोज ठाकुर,श्री अखिलेश सिंह, श्री चन्द्र प्रकाश, श्री मनीष कुमार, मो जुम्मन आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे ।

Recent Posts

%d bloggers like this: