November 1, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भारत की अर्थव्यवस्था में गिरावट का दौर नोटबंदी से ही शुरू हो चुका था : रामेश्वर उरांव

रांची:- झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा है कि देश की आर्थिक बदहाली के लिए नोटबंदी, गलत जीएसटी और बिना सोचे समझे देशव्यापी लॉकडाउन लागू करना है। उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था में गिरावट का दौर नोटबंदी से ही शुरू हो चुका था और बाद में गलत जीएसटी लागू करने से स्थिति और खराब हुई। अब बिना सोचे-समझे लॉकडाउन लागू कर देने से अर्थव्यवस्था स्वतंत्र भारत के सबसे खराब दौर में पहुंच गया है। अब भी सचेत होने की जरुरत है और हालात में सुधार के लिए तत्काल युद्धस्तर पर प्रयास शुरू किये जाने चाहिए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने मंगलवार को कहा कि आज देश की हालात इतनी खराब हो गयी है कि जीडीपी माइनस 23.9 प्रतिशत पर पहुंच गया है। वहीं कंस्ट्रक्शन सेक्टर का भी ग्रोथ -51.4प्रतिशत है, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर का ग्रोथ -39.3प्रतिशत, माइंनिंग सेक्टर का ग्रोथ -41.3प्रतिशत, ट्रेड, होटल व ट्रांसपोर्ट ग्रोथ -47.4प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में सबसे बड़ी गिरावट और हर चेतावनी को केंद्र सरकार द्वारा नजरअंदाज करते रहना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 40 वर्षों में पहली बार भारी मंदी में है। इन सभी स्थितियों के लिए कांग्रेस, सोनिया गांधी, मौसम और भगवान को जिम्मेवार ठहराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आश्चर्यजनक है कि सरकार ने अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार के लिए समय रहते कोई कदम नहीं उठाया। उराँव ने कहा कि अर्थशास्त्र के विषय में थोड़ी सी जानकारी रखने वाला साधारण इंसान भी इस बात की समझ रखता है कि जीडीपी का मेन ड्राइवर खपत है और इसके लिए सरकार को प्रवासी मजदूरों और गरीबों को नगद पैसा देना चाहिए था तो अर्थव्यवस्था नियंत्रित रहती ,लेकिन प्रधानमंत्री ने इस पर कोई प्रयास नहीं किया जिसके वजह से 5 महीनों में स्थिति विकराल हो गई है जिसे संभालना आसान काम नहीं होगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: