October 19, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सबसे अधिक हॉकी खिलाड़ी देने वाले गांव में निबंध व क्विज प्रतियोगिता

रांची:- 29अगस्त राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर आज जिला प्रशासन सिमडेगाके द्वारा हॉकी सिमडेगा के सहयोग से राज्य को सबसे अधिक राष्ट्रीय एवम अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियो के गांव करँगागुड़ी विद्यालय में निबन्ध एवम क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। नशा मुक्त भारत अभियान के तहत जिला प्रशासन सिमडेगा के द्वारा खिलाड़ियो के बीच खिलाडी और नशापान-दोनों के बीच शोशल डिस्डेनसिंग रहे बरकरार तथा क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।इस प्रतियोगिता में शोशल डिस्टेंडस का अनुपालन करते हुए रास्ट्रीय, राज्य स्तरीय जिला स्तरीय खिलाड़ियो ने भाग लिया।क्विज प्रतियोगिता में बालिका वर्ग में दिपत्ति कुल्लू- प्रथम,किरण बड़ा द्वितीय तथा काजल बड़ा तृतीय स्थान प्राप्त किया,वन्ही बालक वर्ग में सचिन डुंगडुंग प्रथम,अमन तिग्गा द्वितीय एवम अमरूस तृतीय स्थान प्राप्त किया। इन सभी विजेता खिलाड़ियो को हॉकी सिमडेगा की ओर से पुरुस्कार स्वरूप हॉर्लिक्स एवम च्यवनप्रश दिए गए ,तथा निबन्ध प्रतियोगिता में बालिका वर्ग में काजल बड़ा प्रथम,किरण बड़ा द्वितीय एवम दिपत्ति कुल्लू तृतीय स्थान प्राप्त की वन्ही बालक वर्ग में सचिन डुंगडुंग प्रथम,सचिन बड़ा द्वितीय एवम अनुज बड़ा तृतीय स्थान प्राप्त किये।इन सभी को उपायुक्त महोदय सिमडेगा के द्वारा पुरुस्कार देकर सम्मानित किए जाएंगे।इससे पूर्व मुख्यातिथि जिला समाज कल्याण सह जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी रेणु बाला,हॉकी सिमडेगा के महासचिब मनोज कोनबेगी,सँयुक्त सचिव कमलेव्सर मांझी,करँगागुड़ी विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री पौलुस बागे,शिक्षक टिंटूस बड़ा,हॉकी कोच सुभिला मिज,इंटरनेशनल हॉकी खिलाड़ी व्यूटी डुंगडुंग के पिताजी अमरूष डुंगडुंग एवम उपस्थित सभी खिलाड़ियो ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यांचन्द को पुष्पार्पित कर श्रधांजलि दी।
जिला समाज कल्याण पदाधिकारी रेणु बाला ने उपस्थित खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राष्ट्रीय खेल दिवस 29 अगस्त को हॉकी के महान् खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती के दिन मनाया जाता है। दुनिया भर में हॉकी के जादूगर के नाम से प्रसिद्ध भारत के महान् व कालजयी हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद सिंह जिन्होंने भारत को ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक दिलवाया, उनके प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए उनके जन्मदिन 29 अगस्त को हर वर्ष भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। खिलाड़ी एवं नशापान दोनो के बीच सोशल डिस्टेंसिंग रहे बरकरार पर प्रकाश डालते हुए कहा कि खिलाड़ी को हमेशा फिट एवं अनुशासित होना चाहिए। नशा शरीर की शारिरिक एवं बौद्धिक विकास में बाधक बनता है। नशा के सेवन से स्वंय के साथ-साथ समाज में भी बुरा असर पड़ता है। हॉकी की नर्सरी की पहचान को ओर अधिक बल देते हुए खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ें। खिलाड़ी एवं नशा के बीच हमेशा सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखें। मौके पर उपस्थित हॉकी सिमडेगा के महासचिव श्री मनोज कोनबेगी ने कहा कि सिमडेगा जिला में भारत के सबसे अधिक प्रतिभाशाली हॉकी खिलाड़ी है पर नशापान से हमारे पुरुष खिलाडी भारतीय टीम में जगह नही बना पा रहे है,1972 एवम 1980 के ओलम्पिक में हमारे सिंमडेगा के खिलाडी हुआ करते थे तब पदक जीती है, फादर पौलुस बागे एवं कमलेव्सर मांझी सहित खिलाड़ियों ने नशा मुक्त सिमडेगा बनाने के लिए अपने विचार व्यक्त किये।सभी खिलाड़ियो ने अपने आपको ,अपने घर को और अपने गांव को नशा से मुक्त कराने की शपथ ली।

Recent Posts

%d bloggers like this: