October 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

यूपी सरकार के 56.42करोड़ के फर्जी चेक साथ चार गिरफ्तार

यूपी के मनरेगा आयुक्त के हस्ताक्षर का फर्जी चेक पकड़ में आया

रांची:- झारखंड पुलिस ने 56.42करोड़ रुपये के फर्जीवाड़ा की कोशिश को नाकाम करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।
रांची के वरीय पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने चार अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। गिरफ्तार आरोपियों के पास से उत्तर प्रदेश के मनरेगा आयुक्त का हस्ताक्षर किया हुआ 54 करोड़ 42लाख 19 हजार 687 रुपये का एक भारतीय स्टेट बैंक का चेक पाया गया, यह चेक पीएसएमई, कंस्ट्रक्शन एंड स्टाफिंग सर्विसेस प्रा. लि. के नाम से जारी किया गया था। इस चेक का सत्यापन स्थानीय बैंक और मनरेगा आयुक्त लखनऊ से कराया गया। मनरेगा आयुक्त कार्यालय से लिखित में बताया गया कि यह चेक इनके कार्यालय से बैंक के लिए निर्गत नहीं किया गया। जिसके बाद पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।
गिरफ्तार आरोपियों से पुलिसिया पूछताछ में यह जानकारी मिली कि पकड़े गये लोगों का तार दिल्ली के रहने वाले सतीश ठाकुर और कुणाल नामक व्यक्ति से जुड़ा हुआ है। कुणाल द्वारा ही उक्त निर्गत चेक को 22 अगस्त को दिल्ली से रांची आकर बिरसा मुंडा हवाईअड्डे पर दिया गया और पैसा ट्रांसफर होने पर पांच प्रतिशत कमीशन देने का वादा किया गया। लेकिन पुलिस की कुशलता और तत्परता से ससमय कार्रवाई किये जाने के कारण उस चेक को बरामद किया गया। जिससे बहुत बड़े पैमाने पर धोखाधड़ी और राशि की ट्रांसफर को रोक दिया गया।
गिरफ्तार आरोपियों की पहचान सदर थाना क्षेत्र के रहने वाले राजेश कुमार, अरगोड़ा थाना के मनीष कुमार सिन्हा एवं अजय सिंह उर्फ पप्पू और चुटिया थाना के विजय वर्मन के रूप में की गयी है। इनके पास से एसबीआई का 65.42करोड़ का चेक के साथ पांच मोबाइल भी जब्त किया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: