October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पर्यटन स्थल के रूप में विकसित होगा पलामू जिले का भीम चूल्हाः उपायुक्त

मेदिनीनगर:- पलामू जिले के मोहम्मदगंज स्थित भीम चूल्हा पर्यटकों को लुभायेगा। इसे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करते हुए नागरिक सुविधाएं बढ़ाई जायेगी, ताकि यहां पर्यटक आने में दिलचस्पी लें। पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की कवायद शुरू कर दी गयी है। इस निमित पलामू उपायुक्त शशि रंजन आज भीम चूल्हा का निरीक्षण किया। उपायुक्त भीम चूल्हा के अलावा उतर कोयल भीम बराज का भी निरीक्षण किया।
उपायुक्त शशि रंजन ने कहा कि मोहम्मदगंज में पर्यटन के क्षेत्र में काफी संभावनाएं हैं। भीम चूल्हा को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जायेगा। जिला स्तरीय पर्यटन संवर्द्धन समिति से भीम चूल्हा पर्यटन स्थल के रूप में चिन्हित है। इसका कार्य प्लान तैयार हो रहा है। जल्द ही पर्यटन स्थल के रूप में इसे विकसित करते हुए सुव्यवस्थित तरीके से सजाने, संवारने का कार्य होगा।
उपायुक्त ने निरीक्षण के दौरान देखा कि यहां पर्यटन के क्षेत्र में क्या-क्या संभावनाएं हो सकती है। यहां सोलर स्ट्रीट लाइट, शौचालय, पेयजलापूर्ति, डस्टबिन, गार्डेन, गार्डन बेंच, फूड कियोस्क इत्यादि लगाये जाने एवं गार्डवाल व रेलिंग निर्माण इत्यादि नागरिक सुविधाएं बहाल करने से संबंधित कार्य किये जायेंगे, ताकि अधिक से अधिक पर्यटक यहां आयें। उपायुक्त ने पर्यटकों के आगमण से स्थानीय लोगों के लिए रोजगार की संभावनाओं को भी बारीकी से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि पर्यटन स्थल बनने से स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा।
उपायुक्त मोहम्मदगंज उतर कोयल भीम बराज, भीम चूल्हा पहाड़ियों से घिरा है, जो अपने आप में अपनी सुंदरता बिखेर रहा है। उपायुक्त ने उतर कोयल भीम बराज के कंट्रोल रूम से बराज का अवलोकन किया। उन्होंने बारिश के बाद बराज का जलस्तर बढ़ने के मद्देनजर लोगों को सतर्कता और सावधानी बरतने की अपील की। साथ ही सुरक्षित स्थान पर रहने का सुझाव दिया है। उपायुक्त ने अधिकारियों से बराज के संचालन, पानी के स्टॉक ,नदी और नहर में पानी के प्रवाह सहित बराज से जुड़े कार्यो की बारिकी से जानकारी लेते हुए कंट्रोल रूम की मरम्मति कराने का निदेश दिया। मौसमी दैनिक वेतनभोगी कर्मियों ने झारखंड सरकार नियंत्राधिन विभाग द्वारा कार्य मजदूरी भुगतान नहीं किये जाने से सम्बंधित समस्याएं उपायुक्त के समक्ष रखी। उपायुक्त ने उनकी समस्या को विभागीय अधिकारियों से पहल कराकर पूरा करने का आश्वासन दिया। स्थानीय लोगों की मांग पर उपायुक्त ने मोहम्मदगंज सिचाई परिसर स्थित उतर कोयल परियोजना उच्च विद्यालय की वस्तुस्थिति के संबंध में पूरी जानकारी लेकर शिक्षकों की कमी को दूर करने का आश्वासन भी दिया। उपायुक्त ने स्थानीय लोगों की मांग पर मोहम्मदगंज प्रखंड मुख्यालय में चिकित्सक की नियुक्ति-प्रतिनियुक्ति करने का निदेश सिविल सर्जन को दिया।
निरीक्षण के दौरान प्रशिक्षु आईएएस दिलीप प्रताप सिंह शेखावत, हुसैनाबाद अनुमंडल पदाधिकारी कुंदन कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी जितेंद्र कुमार,प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रभाकर ओझा, बराज प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता राजेन्द्र राम,सहायक अभियंता नरसिंह प्रसाद,विजय प्रताप सिंह,पुलिस निरीक्षक संजय टोप्पो,थाना प्रभारी अमरदीप,ए एस आई शिवकुमार प्रसाद आदि उपस्थित थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: