October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पूर्व उपमुख्यमंत्री सह आजसू पार्टी सुप्रीमो सुदेश महतो से 15लाख रंगदारी मांगी गयी

स्पूफ कॉलिंग के माध्यम से रंगदारी नहीं देने पर घर में घुस कर गोली मारने की धमकी

रांची:- झारखंड के पूर्व उपमुख्यमंत्री सह आजसू पार्टी सुप्रीमो सुदेश महतो से दो अलग-अलग नंबर से स्पूज कॉलिंग के माध्यम से 15लाख रुपये की रंगदारी की मांग की गयी है और रंगदारी नहीं देने पर घर में घुस कर गोली मारने की धमकी दी गयी।
इस संबंध में सिल्ली विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित आजसू पार्टी विधायक सुदेश महतो के करीबी महेंद्र कुमार शर्मा की ओर से रांची के गोंदा थाने में शिकायत दर्ज करायी गयी। जिसमें यह बताया गया है कि 14 अगस्त की रात को 9.30बजे से 10.15बजे के बीच दो अलग-अलग नंबर से कॉल आये और मोबाइल फोन कॉल से सुदेश महतो से 15 लाख रुपये की रंगदारी की मांग की गयी।
पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है, पहले नंबर का अंतिम चार अंक 8536 और दूसरे नंबर का अंतिम चार अंक 0986 है। पुलिस ने दोनों नंबरों की जानकारी जुटा रही है। शुरूआती छानबीन में पता चला है कि दोनों नंबर जमशेदपुर के हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ट्रूकॉलर में पहला नंबर इमरान खान और दूसरा नंबर सलमान खान बताया जा रहा है, पुलिस जब दोनों मोबाइल नंबर के मालिक तक पहुंची चौंकाने वाली जानकारी मिली। दोनों नंबरों का इस्‍तेमाल स्‍पूफ कॉल के जरिए किया गया है। पूर्व उपमुख्‍यमंत्री से रंगदारी मांगने वाले अपराधी बहुत शातिर हैं। वे आधुनिक तकनीक का दुरूपयोग करने में महारत हैं, अपराधियों ने स्‍पूफ कॉल के जरिए रंगदारी मांगी, ताकि वे किसी और को फंसा के आसानी से बच जाएं।

स्पूफ कॉलिंग का उपयोग तेजी से बढ़ा है

इन दिनों स्पूफ कॉलिंग का उपयोग तेजी से बढ़ा है, इसमें व्यक्ति (कॉलर) अपनी आईडेंटिटी (नाम) और मोबाइल नंबर को छिपाकर कॉल करता है, ऐसे स्पूफ कॉलर अन्य किसी मोबाइल यूजर का नंबर उपयोग कर आपराधिक मामलों में टारगेट को परेशान करने में इसका उपयोग कर रहे हैं।

स्पूज कॉल कैसे होता है

स्पूफ कॉलर जब किसी को फोन लगाएगा तो उस व्यक्ति के फोन पर अपलोड किया नाम और फोन नंबर दिखेगा। इससे टारगेट पर लिया व्यक्ति पूरे समय कन्फ्यूज रहेगा। जब वह उक्त नंबर डॉयल करेगा तो वास्तविक यूजर को फोन लगेगा, जिसका कोई लेना-देना नहीं है।

स्‍पूज कॉल कैसे होता है, ये हम यहां नहीं बताएंगे क्‍योंकि डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्यूनिकेश के मुताबिक इंडियन टेलीग्राफ एक्ट-1885 के तहत स्पूफ कॉलिंग भारत में प्रतिबंधित है। ऐसा करते पाए जाने पर जुर्माने, तीन साल जेल या दोनों दंड साथ देने का प्रावधान है। इसके लिए भारतीय सरकार ने अंतरराष्ट्रीय और देश में काम करने वाली एजेंसियों के लिए सख्त नियम बना रखे हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: