September 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कांग्रेस हमेशा किसानों की आवाज बनती रही है : रामेश्वर उरांव

रांची। देश की आजादी के लिए अपने संघर्षों, इतिहास और राष्ट्र निर्माण में योगदान को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा धरोहर नाम से वीडियो श्रृंखला के तहत आज चौथी वीडियो देश की युवा पीढ़ियों के नाम जारी की है, ज्ञातव्य है कि 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के दिन से कांग्रेस पार्टी 1885 से लेकर अब तक अपने किए गए कार्यों को धरोहर वीडियो श्रृंखला के माध्यम से जारी कर रही है, इसी कड़ी में आज चौथी वीडियो देश के नाम समर्पित किया है।
प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डा रामेश्वर उराँव ने कहा कि कांग्रेस हमेशां किसानों की आवाज बनती आयी है,स्वतंत्रता आंदोलन से शुरु हुआ ये सफर अब तक जारी है।
उन्होंने कहा आजादी के उस दौर में कांग्रेस भारत की 85प्रतिशत आबादी के साथ थी,जैसे आज खेती के उपकरणों पर जीएसटी लगाकर किसानों की कमर तोड़ी जा रही है उस समय भी अंग्रेज सरकार भारत पर नियंत्रण मजबूत करने के लिए किसानों पर मनमाने टैक्स और लगान थोप रही थी।कांग्रेस तब भी अंग्रेजों की राह में सबसे बड़ी बाधा बनकर खड़ी हो गई और इस दौर में भी किसानों की जमीन छीनने वाले दमनकारी भूमि अधिग्रहण कानून के रास्ते में कांग्रेस पार्टी चट्टान की तरह खड़ी हो गई और उसे वापस करवाकर ही दम लिया। यह साल था 1897 का राजस्थान से लेकर महाराष्ट्र तक किसान ब्रिटिश सरकार की दमनकारी टेक्स्ट नीतियों के खिलाफ आंदोलनरत थे और 1897 का कांग्रेस अधिवेशन शंकरनारायणन की अध्यक्षता में महाराष्ट्र के अमरावती में संपन्न हुआ और कांग्रेस के आह्वान पर किसानों ने पहली बार लगान का सामूहिक बहिष्कार कर दिया। भूमिकर को कम करने और जोतदारों के समय को संशोधित करने के प्रस्ताव के जरिए कांग्रेस ने बाल गंगाधर तिलक जैसे नेताओं के जरिए देशभर के किसानों को एकजुट किया। इसी दौरान दक्षिण महाराष्ट्र में एक गैर राजस्व आंदोलन का आयोजन किया गया जिसमें तिलक की पुणे सार्वजनिक सभा के सदस्यों और पुणे के छात्रों ने जमींदारों से अंग्रेजी हुकूमत को राजस्व का भुगतान न करने का आह्वान किया। कांग्रेस किसानों की आवाज बनती जा रही थी, 1897 कि इस देशव्यापी किसान आंदोलन ने ब्रिटिश हुकूमत की चिंताएं बढ़ा दी थी।
डा रामेश्वर उराँव ने कहा भारत माता की आजादी की लड़ाई में चंपारण से बतौली तक किसान कांग्रेस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हो गए। आजादी की लड़ाई के उस दौर में किसानों को फसल में हिस्सा नहीं मिलता था, आज किसानों को समय पर केंद्र सरकार की गलत नीतियों के वजह से बीज और फसल का सही मूल्य नहीं मिल रहा है ।आज भी अंग्रेज हुकूमत की तरह आवाज उठाने पर किसानों पर लाठियों और गोलियों की बौछार की जाती है।टैक्स से लेकर बिचौलियों की मुनाफाखोरी तक आज हालात अंग्रेज राज जैसे ही हैं ।आज फसल बीमा में भ्रष्टाचार का तबके ब्रिटिश अत्याचार से कम नहीं है ,मगर देश का किसान कांग्रेस के साथ मिलकर तब भी खड़ा था और अब भी खड़ी है, किसानों के अधिकारों की लड़ाई में कांग्रेस नां तब पीछे हटी ना अब हटेगी।
प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे एवं डा राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि धरोहर वीडियो भारत में कांग्रेस के योगदान को दर्शाती है।स्वतंत्रता के लिए संघर्ष से लेकर आधुनिक भारत के विकास में कांग्रेस का योगदान एवं कांग्रेस के राज्य सरकारों की उपलब्धियों को दर्शाया गया है ।आज जारी वीडियो सोशल मीडिया के माध्यम से फेसबुक,ट्यूटर,इंसटेग्राम, वाहट्स अप में पोस्ट किया गया है।
सोशल मीडिया के झारखंड कोर्डिनेटर गजेन्द्र प्रसाद सिंह के प्रयासों से झारखंड के विधायकों,सांसदों,मंत्रियों, प्रदेश के पदाधिकारियों, जिला अध्यक्षों ने वीडियो पोस्ट किया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: