October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

शिल्पा शिंदे ने चैनल वालों पर लगाया आरोप, काम करने वाले कलाकारों का कर रहे शोषण

नई दिल्ली:- बिग बॉस सीजन 11 की विनर शिल्पा शिंदे ने प्रोड्क्शन हाउस द्वारा कलाकारों की पेमेंट काटने पर बड़ा बयान दिया है। शिल्पा ने कहा कि चैनल वाले अपने यहां काम करने वाले कलाकारों का शोषण कर रहे हैं। शिल्पा ने कहा कि चैनल का ये कहना कि पिछले कुछ महीनों में काम ठप रहा, जिसकी वजह से कमाई नहीं हुई यह बिल्कुल गलत है। उन्होंने कहा कि चैनल ने लॉकडाउन के दिनों में अपने पुराने शो चलाए जो उनके हिट थे, जैसे कि एंड टीवी ने मेरा पुराना शो ‘भाबी जी घर पर है’ चलाया उनसे उन्होंने ठीक-ठाक पैसे कमाएं। शिल्पा ने कहा कि सभी चैनल्स ने अभी अपने यहां पर काम करने वाली टीम को कम कर दिया है। जिसके चलते उनके काफी पैसे बच रहे हैं। लेकिन जब कलाकारों को पैसे देने की बात आती है तो सभी चैनल्स बहाने बना रहे हैं। शिल्पा स्टार भारत पर आने वाले ‘गैंग्स ऑफ फिल्मीस्तान’ की शूटिंग कर रही हैं और इसमें उनके साथ सुनील ग्रोवर हैं। उन्होंने कहा कि मैं ‘गैंग्स ऑफ फिल्मीस्तान’ से खुश हूं क्योंकि यह सिर्फ तीन महीने का शो है। टीवी के दूसरे शो की तरह यह सालों साल नहीं चलेगा और न ही सालों साल इसकी पेमेंट लेट होगी। ये पूछे जाने पर कि क्या उनकी पेमेंट भी स्टार भारत ने कम की है। शिल्पा शिंदे ने कहा कि मैं अपनी पेमेंट से खुश हूं और स्टार के साथ मेरा रिश्ता पहले से अच्छा है। हालांकि उन्होंने साफ किया कि मुझे मेरे किसी जानने वाले ने बताया तब मैंने सुना कि आर्टिस्ट की पेमेंट को कम करने का आदेश दिया गया है। तब मुझे अजीब लगा क्योंकि एक तो वैसे ही हमारी पेमेंट तीन और चार महीने के बाद आती है। अब अगर वह भी कट कर आएगी तो घर कैसे चलेगा। शिल्पा ने आगे कहा कि मैंने सालों काम करके अपने लिए महंगी गाड़ियां नहीं बल्कि एक दुकान खरीदी जिसका हर महीने मुझे किराया मिलता था और जब मैं काम नहीं करती तो उस किराए से मेरा काम चल जाता है। लेकिन लॉकडाउन में दुकान बंद होने के कारण किराया भी नहीं आया। ऐसे में मैंने अपनी बचत से पैसे लिए। शिल्पा ने कहा कि मैं एक मध्यमवर्गीय परिवार में पली-बढ़ी हूं और मुझे हमेशा से सिखाया गया कि अगर आपके पास 10 रुपये हैं तो 5 खर्च करो और 5 बचाओ। इसलिए महीनों तक काम न करने के बाद भी मेरा गुजारा चल जाता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: