October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पुत्र की भूमिका में पिता के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित दिखे सीएम हेमंत सोरेन

यात्रा के क्रम में आने वाली हर छोटी छोटी बातों को लेकर दिशा निर्देश देते दिखे

रांची:- झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मंगलवार राज्य के मुखिया की भूमिका से पूरी तरह से अलग एक पुत्र की भूमिका में नजर आये। हेमंत सोरेन अपने पिता और जेएमएम अध्यक्ष शिबू सोरेन के स्वास्थ्य को लेकर खासे चिंतित दिखे।
हेमंत सोरेन मंगलवार को होम आइसोलेशन में इलाजरत शिबू सोरेन को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराने के बाद लगातार उनके स्वास्थ्य को लेकर हॉस्पिटल प्रबंधन और शिबू सोरेन के इलाज और देखरेख में लगे चिकित्सकों से संपर्क में थे। चिकित्सकों ने ही हेमंत सोरेन को यह सलाह दी कि सालभर से उनका नियमित चेकअप नहीं हुआ है, इसलिए गुरुग्राम स्थित मेदांता ले जाना बेहतर होगा। इसके बाद प्रारंभ में यह तय हुआ कि एयर एंबुलेंस से शिबू सोरेन को दिल्ली ले जाया जाए, लेकिन बाद में चिकित्सकों ने ही यह सलाह दी कि चिंता की वैसी कोई बात नहीं है, ट्रेन से भी उन्हें दिल्ली ले जाया जा सकता है। जिसके बाद तुरंत हेमंत सोरेन के नेतृत्व पर प्रशासनिक अधिकारियों ने रेलवे से संपर्क साधा और भुनेश्वर से दिल्ली जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में स्पेशल बोगी को बोकारो रेलवे स्टेशन में जोड़ने का प्रबंध किया गया।
हेमंत सोरेन खुद रांची के मेदांता अस्पताल पहुंचे और वहां अपनी देखरेख में शिबू सोरेन को एंबुलेंस में बिठाया, उसके बाद वे स्वयं एंबुलेंस के साथ बोकारो रेलवे स्टेशन पहुंचे, जहां पहले से ही स्पेशल बोगी में शिबू सोरेन के अलावा चिकित्सकों की टीम, सुरक्षा कर्मियों और अन्य कर्मियों के बैठने का स्थान निर्धारित था। अपने कोरोना पॉजिटिव पिता से सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए हेमंत सोरेन लगातार उनसे बातचीत करते रहे और उन्हें आवश्यक हिदायत के साथ ही ढांढस बंधाते रहे। हेमंत सोरेन यात्रा के क्रम में आने वाली हर छोटी-छोटी बातों को लेकर भी शिबू सोरेन के साथ जा रहे कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिखे। जब तक ट्रेन बोकारो स्टेशन से आगे के लिए रवाना नहीं हो गयी, तब तक वे खुद स्टेशन पर ही मौजूद रहे।

Recent Posts

%d bloggers like this: