December 4, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

विजयवाड़ा में कोविड सेंटर के रूप में प्रयोग किए जा रहे एक होटल में रविवार की सुबह भीषण आग लगने से दस लोगों की मौत

विजयवाड़ा:- आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में कोविड सेंटर के रूप में प्रयोग किए जा रहे एक होटल में रविवार सुबह भीषण आग लग गई है। इस घटना में सात लोगों की मौत हो गई और कई अन्य झुलस गए। मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने अधिकारियों को दुर्घटना की जांच करने का आदेश दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है
आंध्र प्रदेश सरकार ने विजयवाड़ा में कोविड फैसिलिटी के तौर पर इस्तेमाल किए जा रहे होटल में लगी आग में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को 50-50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की।

प्राप्त खबरों के मुताबिक शहर में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले को देखते हुए विजयवाड़ा स्थित स्वर्णा पैलेस होटल को कोविड-19 सेंटर के रूप में तब्दील किया गया था। इस होटल में 22 मरीजों का इलाज चल रहा था। वहीं, कर्मचारियों को मिलाकर 50 के करीब लोग यहां रह रहे थे।

आग लगने से कई लोग बुरी तरह झुलस गए हैं। फिलहाल इस घटना में दस लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। माना जा रहा है मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। मृतकों के शवों को होटल से बाहर निकाल लिया गया है।

दमकल विभाग सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच गया और आग बुझाने में जुट गया। बताया गया है कि कई लोगों के होटल में फंसे होने की आशंका है। फिलहाल लोगों को बचाने के लिए राहत बचाव कार्य जारी है।

विजयवाड़ा में आग लगने की घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने दुख और शोक व्यक्त किया है और दुर्घटना के कारणों की जानकारी ली। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को बचाव के उपाय करने और घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने यह जानकारी दी है। प्रदेश सरकार ने प्रत्येक मृतक के परिवार को 50-50 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है।

कार्यालय ने बताया है कि मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दुर्घटना की जांच करने के भी निर्देश दिए हैं। जिस होटल में आग लगी थी, उसे लीज पर लिया गया था और कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए एक निजी अस्पताल द्वारा संचालित किया जा रहा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आग लगने की खबर आने के बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री से बात की और उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

वहीं, इस घटना के संबंध में कृष्णा जिले के जिलाधिकारी मोहम्मद इम्तियाज का कहना है कि यह घटना सुबह पांच बजे हुई। इस अस्पताल में 22 मरीजों का इलाज चल रहा था। उन्होंने कहा कि पूरी इमारत को खाली करवाया जा रहा है। शुरुआती रिपोर्ट से पता चला है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी है, लेकिन हमें आग लगने के असल कारणों का पता लगाना होगा।

अचनाक आग लगने की वजह से कई लोग डरकर ऊपर से ही कूद गए। कोविड सेंटर में आग लगने के बाद कई वीडियो भी सामने आए हैं, जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे लोग आग और धुएं से बचने के लिए खिड़कियों से बाहर लटक रहे हैं।

इससे पहले, गुरुवार को गुजरात के अहमदाबाद में एक कोविड-19 अस्पताल के आईसीयू में आग लग गई थी। इसमें आठ कोरोना मरीजों की मौत हो गई थी। पुलिस ने बताया था कि यहां शॉर्ट सर्किट से आग लगी थी।

Recent Posts

%d bloggers like this: