November 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

100 आंगनवाड़ी केंद्र का जीर्णोद्धार कार्य पूर्ण, शेष 100 केंद्रों के जीर्णोद्धार का कार्य भी जल्द किया जाएगा पूरा

चाईबासा:- पश्चिमी सिंहभूम जिला में बुनियादी शिक्षा व्यवस्था को सुधारने एवं कुपोषण के खिलाफ जारी जंग में आंगनवाड़ी केंद्रों के उल्लेखनीय योगदान के मद्देनजर जिला प्रशासन के द्वारा जिला उपायुक्त अरवा राजकमल के अध्यक्षता में आयोजित विगत वित्तीय वर्ष में आकांक्षी जिला की समीक्षा बैठक में बच्चों की समुचित विकास एवं जिला को कुपोषण मुक्त करने के उद्देश्य से 200 आंगनवाड़ी केंद्र भवन निर्माण-जीर्णोद्धार यथा शौचालय, चापाकल तथा हैंडवॉश यूनिट सहित करने का निर्णय लिया गया था, जिसके तहत जिले में अब तक 100 आंगनवाड़ी केंद्र का जीर्णोद्धार कार्य पूरा कर लिया गया है एवं शेष 100 केंद्रों का निर्माण प्रक्रियाधीन है और जल्द ही इसे भी पूरा कर लिया जाएगा।
इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए जिले के उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन के द्वारा बताया गया कि जिले में कुल 2,330 आंगनबाड़ी केंद्र हैं, जिनमें 800 आंगनवाड़ी केंद्र को आदर्श आंगनवाड़ी केंद्र के रूप में जिला प्रशासन के द्वारा उत्क्रमित किया गया है तथा शेष बचे कई ऐसे केंद्र हैं जो किराए के भवन में या तो सेविका के घर में या किसी विद्यालय के प्रांगण में चल रहा है या मुख्य रूप से कहे तो भवनहीन है और कई ऐसे केंद्र हैं जो 80 और 90 के दशक में बने हैं एवं अभी वर्तमान में जर्जर अवस्था में है। इन सभी आंगनवाड़ी केंद्रों को सूचीबद्ध करते हुए उपरोक्त 200 आंगनवाड़ी केंद्र के भवनों का निर्माण-जीर्णोद्धार कार्य प्रारंभ किया गया है।
डीडीसी के द्वारा बताया गया कि उक्त 200 आंगनवाड़ी केंद्र के अलावे राज्य सरकार से प्राप्त निर्देश के अनुसार 100 अन्य आंगनवाड़ी केंद्रों को जिले में मनरेगा कार्यों से जोड़ते हुए समाज कल्याण विभाग के द्वारा निर्माण किया जाएगा के तहत भी सूची बनाने की प्रक्रिया जारी है तथा आंगनवाड़ी केंद्र के नवनिर्माण एवं जर्जर आंगनवाड़ी केंद्र भवनों के पुनःर्निर्माण हेतु संबंधित पूर्ण जानकारी क्षेत्र के मुखिया, मुंडा, महिला पर्यवेक्षिका एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा प्रतिवेदित किया गया है। डीडीसी ने कहा कि आशा है कि इस जिले में कुल 2,330 आंगनवाड़ी केंद्रों में सभी केंद्र आने वाले समय में भवन के साथ सेविका को दे पाएंगे ताकि बच्चों का सही देखभाल और पढाई हो सके।

Recent Posts

%d bloggers like this: