November 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन

मुंबई:- फिल्मी दुनिया की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का कार्डियक अरेस्ट के चलते मुंबई में देहांत हो गया। वे पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रही थीं, उन्हें बांद्रा स्थित गुरु नानक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। देर रात उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और शुक्रवार को उनका देहांत हो गया। उनका कोविड-19 टेस्ट निगेटिव आया है। वह 71 वर्ष की थीं
सरोज खान को गुरु नानक हॉस्पिटल में सांस की तकलीफ के चलते 20 जून को भर्ती कराया गया था। अस्पताल में भर्ती होने से पहले उनका कोविड टेस्ट कराया गया था, जो निगेटिव आया। सरोज खान के परिजनों ने बताया था कि उनका स्वास्थ्य धीरे-धीरे सुधर हो रहा था। जल्द ही उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी जाएगी। लेकिन अचानक देर रात उनकी तबीयत बिगड़ गई और उन्हें बचाया नहीं जा सका। सरोज खान का अंतिम संस्कार आज मुंबई स्थित मलाड के मालवाणी में होगा

ऐसा था उनका सफर

चालीस साल के लंबे करियर में सरोज खान को 2,000 से ज्यादा गानों की कोरियोग्राफी करने का श्रेय हासिल है। सरोज खान को अपनी कोरियोग्राफी की कला के चलते 3 बार नेशनल अवॉर्ड मिल चुका था। संजय लीला भंसाली की फिल्म देवदास में डोला-रे-डोला गाने की कोरियोग्राफी के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिला था। माधुरी दीक्षित की फिल्म तेजाब के यादगार आइटम सॉन्ग एक-दो-तीन और साल 2007 में आई फिल्म जब वी मेट के सॉन्ग ये इश्क… के लिए भी उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिला था।
सरोज खान ने आखिरी बार करण जौहर के प्रोडक्शन हाउस के तले बनी फिल्म कलंक में तबाह हो गए गाने गाने को कोरियोग्राफ किया था।

Recent Posts

%d bloggers like this: