November 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोत्तरी के खिलाफ अनोखा प्रदर्शन

राँची:- पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोत्तरी के खिलाफ बुधवार को राजधानी रांची में एनएसयूआई कार्यकर्त्ताओं ने अनोखे अंदाज में विरोध प्रदर्शन किया।
एनएसयूआई कार्यकर्त्ता बैलगाड़ी और भैंस को साथ लेकर बिरसा चौक पर विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्त्ता अपने हाथों में तख्तियां लिये हुए थे, जिसमें पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ोत्तरी के खिलाफ नारे लिखे हुए थे। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे छात्र नेताओं ने बताया कि आज पूरा देश कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा है, ऐसे में केन्द्र सरकार मुनाफाखोरी कर रही है। महंगाई का नारा देकर सत्ता में आने वाली केंद्र की बीजेपी सरकार नागरिकों से जबरन वसूली कर रही है। वो भी तब जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें लगातार गिर रही है। वक्ताओं ने कहा कि कोरोना संकटकाल में देश का किसान, मजदूर, नौजवान, पहले ही समस्याओं से जूझ रहा है। इस बीच केन्द्र सरकार लगातार पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क और मूल्य वृद्धि से लोगों की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं। लॉक डाउन में जहाँ लोगों को दो वक़्त की रोटी जुटा पाना मुश्किल हो गया है ऐसी स्थिति में पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी केंद्र सरकार की विफलता है।
एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह ने कहा कि देश की जनता आज केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह याद दिलाना चाहती हैं कि चुनाव से पहले देशवासियों से किया वादा पूरा करें, भाजपा नेताओं ने 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले यह भरोसा दिलया था कि बीजेपी ा की सरकार बनेगी तो पेट्रोल-डीजल के दाम 30 से 35 रुपए के बीच होंगे। फिलहाल कच्चे तेल का मूल्य भी बहुत कम है, ऐसे में वायदा को निभाना चाहिए।

%d bloggers like this: