December 2, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अलग-अलग घटनाओं में छह लोगों ने खुदकुशी की

राँची:- झारखंड में अलग-अलग घटनाओं में छह लोगों ने खुदकुशी कर ली। यह घटना रांची, बोकारो, धनबाद ,जमशेदपुर और खूंटी जिले में हुई,जहां छह लोगों ने मौत को गले लगा लिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार रांची के नामकुम थाना क्षेत्र में रविवार को जिस 10वर्षीय बच्चे ने खुदकुशी की थी, आज सुबह उस बच्चे की मां ने भी खुदकुशी कर ली। बताया गया है कि लगातार मोबाइल पर गेम खेलने वाले बच्चे ने घर में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी, जिससे उसकी मां भी डिप्रेशन में चली गयी थी।
बोकारो जिले के बालीडीह थाना क्षेत्र के रेलवे गोल मार्केट में रहने वाले 19वर्षीय एन्थोनी निकोलस ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक बोकारो टिम्बर में काम करता था। बताया गया है कि रविवार रात बाहर से आकर पैर-हाँथ धोने के बाद अपनी माँ को बोलकर सोने चला गया था। उसकी माँ जब दवा खाने के लिए उठी तो देखी दरवाजा खुला और बेटा फंखे से लटका हुआ है। पुलिस को सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंच छानबीन में जुटी। पुलिस ने मृतक के मोबाईल को कब्जे लेकर खोजबीन कर रही है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मृतक घर का इकलौता पुत्र था।
इधर, धनबाद के हरिहरपुर थाना क्षेत्र के संतालडीह में रविवार रात 42वर्षीय व्यक्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। ग्रामीणों ने बताया कि मृतक इन दिनों आर्थिक परेशानियों से गुजर रहा था। वहीं घटना से मृतक के परिजन सदमे में है। मृतक की एक बेटी और एक बेटा है। बेटी की शादी के लिए रिश्तेदारों से बातचीत चल रही थी। धनबाद जिले के ही तेतुलमारी थाना क्षेत्र में एक कोयला कर्मी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
पूर्वी सिंहभूम जिला मुख्यालय जमशेदपुर के बागबेड़ा थाना क्षेत्र में भी एक युवती ने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बताया गया है कि अमरिंदर कौर ने अपने कमरे में फांसी का फंदा बनाकर उसमें झूल गयी। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।
खूंटी जिले के मुरहू थाना क्षेत्र अंतर्गत घाघरा गांव में एक महिला ने शरीर पर केरोसिन तेल डालकर खुद को आग लगा दी, बुरी तरह से जल जाने के कारण उसे रांची के रिम्स में भर्त्ती कराया गया था,जहां इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गयी। मृतका की पहचान पूनम देवी के रूप में की गयी है। मृतका के पति राजेंद्र कुमार की भी दो वर्ष पहले मौत हो गयी थी और अब उनके चार बच्चे अनाथ हो गये है।

Recent Posts

%d bloggers like this: