November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अनुमंडल अस्पताल में महीनों से बंद पड़े शल्य कक्ष का खुला ताला

चिकित्सकों के टीम के द्वारा 2 महिलाओं का शल्य उपचार के द्वारा करवाया गया प्रसव

चाईबासा:- चाईबासा पश्चिमी सिंहभूम जिला प्रशासन के प्रयास से चिकित्सक के अभाव में अनुमंडल अस्पताल, चक्रधरपुर में विगत महीनों से बंद पड़े शल्य कक्ष का ताला खुल चुका है तथा स्वास्थ्य विभाग के द्वारा समन्वय स्थापित करते हुए जिले में उपलब्ध चिकित्सकों को जिले के स्वास्थ्य केंद्रों पर रोस्टर के हिसाब से प्रतिनियुक्त चिकित्सक के द्वारा उक्त शल्य कक्ष में शल्य उपचार के द्वारा दो महिलाओं का प्रसव क्रिया सफलता पूर्वक किया गया है तथा जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं और हर्ष कि यह सूचना पाकर अनुमंडल अस्पताल के पोषित क्षेत्र के आमजनों में भी काफी प्रसन्नता व्याप्त है।
जिला प्रशासन के इस प्रयास के बारे में जानकारी देते हुए जिले के उप विकास आयुक्त श्री आदित्य रंजन ने बताया कि अनुमंडल अस्पताल, चक्रधरपुर में शल्य चिकित्सक उपलब्ध नहीं रहने के कारण उस क्षेत्र के जनता को शल्य उपचार हेतु सदर अस्पताल, चाईबासा आना पड़ रहा था, जिसके कारण उन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ रही थी, को ध्यान में रखते हुए उपायुक्त श्री अरवा राजकमल के अध्यक्षता में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लेते हुए जिले में ही उपलब्ध शल्य चिकित्सक को रोस्टर के अनुरूप अस्पतालों में प्रतिनियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि पश्चिमी सिंहभूम जिला प्रशासन जिले में बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था उपलब्ध करवाने को लेकर काफी संजीदा है तथा स्थानीय सांसद एवं विधायक गण के सहयोग एवं सामंजस्य से जिले में उपलब्ध मद से सदर अस्पताल, चाईबासा एवं अनुमंडल अस्पताल, चक्रधरपुर में कई अत्याधुनिक यंत्रों की भी स्थापना की गई है ताकि जिले के लोगों को इलाज हेतु जिले से बाहर नहीं जाना पड़े।

Recent Posts

%d bloggers like this: