November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

608 एटीएम कार्ड के साथ फर्जी सीएसपी संचालक गिरफ्तार

लातेहार:- लातेहार सदर थाना क्षेत्र के तरवाडीह पंचायत भवन में चलाए जा रहे कॉमन सर्विस प्वाइंट में लॉकडाउन के दौरान बैंक ऑफ बड़ौदा लातेहार के सीएसपी के फर्जी संचालक के नाम पर खाता से अवैध निकासी के मामले में पुलिस ने एक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने इसके पास से लिफाफे में पैक 538 एटीएम, लिफाफे में पैक 538 एटीएम पिन कोड, 70 प्रयोग किए गए एटीएम पिन, घटना में प्रयोग किए गए टी शर्ट, ट्राउजर, हेलमेट, बैग व मोटरसाइकिल, एक मोबाइल फोन व अभियुक्त के बैंक का दो पासबुक, जिसमें एटीएम के द्वारा निकाले गए करीब 80 हजार रुपये जब्त किया गया है। कुछ दिन पूर्व तरवाडीह पंचायत के गुरूगु ग्राम निवासी मोहम्मद अब्बास अपने खाते से राशि की निकासी करने गया था। इस दौरान उसे पता चला कि उसके खाते में आए प्रधानमंत्री आवास योजना के 29 हजार रुपये की निकासी एक एटीएम कार्ड के द्वारा कर ली गई है। हैरत की बात तो यह है कि मोहम्मद अब्बास ने न तो कभी एटीएम कार्ड जारी करने के लिए आवेदन दिया और ना ही कभी उसने एटीएम कार्ड का प्रयोग किया था। इस संबंध में मोहम्मद अब्बास ने एक लिखित शिकायत सदर थाना लातेहार में की।उन्होंने बताया कि उनके नाम से बैंक ऑफ बड़ौदा, लातेहार में एक खाता संचालित है। यह खाता तरवाडीह के सीएसपी संचालक चंदन कुमार के द्वारा खोला गया था। पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार ने बताया कि सीएसपी संचालक चंदन कुमार से इस संबंध में पूछताछ की गई है। चंदन ने बताया कि सीएसपी सेंटर में लगभग 400 एटीएम कार्ड एक बोरे में भर कर रखे गए थे। उन्होंने बताया कि सेंटर का संचालन पंचायत भवन में किया जाता है और इसी सेंटर में सरकारी क्वारंटाइन सेंटर खोला गया है।यहां कई प्रवासी मजदूरों को क्वारंटाइन किया गया था। इसी दौरान सभी 400 एटीएम कार्ड वहां से गायब हो गए। इस संबंध में लातेहार थाना कांड संख्या 136ष् 2020 भादवि की धारा 419ध्420ध्379 के तहत अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामाला दर्ज किया गया था। इसके आलोक में पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से पड़ताल की। इसमें पता चला कि तरवाडीह गांव निवासी जिबरिल अंसारी उर्फ फैयाज उम्र 22 वर्ष पिता यूनुस सलीम ने फर्जी सीएसपी संचालक बनकर क्वारंटाइन सेंटर से सभी एटीएम उड़ा ले गया। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उसके गांव से उसे गिरफ्तार किया। पुलिस पूछताछ में उसने इस घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली।

Recent Posts

%d bloggers like this: