November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स में फादर्स डे के अवसर पर आयोजित हुई कई प्रतियोगिताएं

राँची:- पिता दुनिया में हर बच्चे के लिए सबसे खास होते हैं। बच्चे और पिता के बीच में एक अटूट रिश्ता होता है और पितृत्व दिवस सभी के लिए खास होता है इस पितृत्व दिवस को स्पेशल बनाने के लिए कलाकृति स्कूल ऑफ आर्ट्स ने बच्चों और उनके पिता के लिए बहुत सारी ऑनलाइन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया था । जिसमे बच्चों ने पेंटिंग और कार्ड्स बना के अपने पिता को दिया सम्मान। साथ ही साथ बच्चों ने अपने पिता को गाना एवं कविता भी समर्पित की।

इस अवसर पर कलाकृति के निदेशक धनंजय कुमार ने कहा की फादर्स डे एक परिवार के लिए पिता के योगदान को स्वीकार करने का दिन है। यह सच ही कहा गया है, “एक पिता सौ अध्यापकों की तुलना में बेहतर है।” हालांकि यह सच है कि माँ एक बच्चे को जन्म देने के लिए शारीरिक पीड़ा से गुजरती है, जबकि एक पिता बच्चे के पैदा होने तक अपने हृदय और मन में सिर्फ कल्पना करता है। हालांकि पिता द्वारा किए गए योगदानों को स्वीकार करने के लिए कोई खास दिन की आवश्यकता नहीं है। इस अनोखे दिन का प्रयोजन करने का एक मात्र उद्देश्य परिवारों को एक साथ लाने का है, क्योकि एकल परिवार की वर्तमान दुनिया में, अधिकतर बच्चे बड़े होकर अपने माता-पिता से दूर रहते हैं। इसलिए कलाकृति ने आज फादर्स डे के उपलक्ष्य पर बच्चों और उनके पिता  के लिए विभिन्न ऑनलाइन प्रतियोगिताएं रखी हैं । जिसमें बच्चों को अपनी पिता के साथ सम्मिलित होना है और अपनी प्रविष्टी को वाट्सएप्प के द्वारा भेजनी थी।

पहली प्रतियोगिता है सुपर डैड प्रतियोगिता : इस प्रतियोगिता में बच्चों को अपनी पिता के साथ किसी तरह का परफॉरमेंस करना था और विडियो भेजना था।

इस प्रतियोगोता को आयोजित करने में कलाकृति स्कूल ऑफ़ आर्ट्स एवं कलाकृति आर्ट फाउंडेशन के सभी लोगों जिसमे रजनी कुमारी, विकाश , हर्षिता, हर्ष, कोमल, शिखा, आरती ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Recent Posts

%d bloggers like this: