November 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आशुतोष आनंद बने सबसे कम उम्र के अपर महाधिवक्ता

दर्शना पोद्दार बनी झारखंड की पहली महिला अपर महाधिवक्ता

राँची:- झारखंड उच्च न्यायालय में राज्य सरकार का पक्ष रखने के लिए 4 नये अपर महाधिवक्ता की नियुक्ति हुई है। रांची की दर्शना पोद्दार मिश्रा झारखंड की पहली अपर महाधिवक्ता बनी, वहीं आशुतोष आनंद सबसे कम उम्र के अपर महाधिवक्ता बनाये गये हैं। इसके अलावा 3 अन्य सीनियर स्थायी सलाहकार भी नियुक्त हुए हैं। इस संबंध में विधि विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी गयी है।
राँची की दर्शना पोद्दार मिश्रा 2000 बैच की वकील हैं। झारखंड की अपर महाधिवक्ता नियुक्त होने के साथ ही दर्शना राज्य की पहली महिला अपर महाधिवक्ता बनी है। रांची से एलएलबी करने के बाद उन्होंने एनएलएसयूआई, बैंगलोर से व्यावसायिक कानून में विशेषज्ञता हासिल की है। झारखंड उच्च न्यायालय में वापस जाने से पहले वह इंग्लैंड और वेल्स में एक सॉलिसिटर का अभ्यास भी कर रही थीं। उसकी रुचि का विशेष क्षेत्र संवैधानिक कानून, व्यापार कानून, कॉर्पोरेट कानून और कराधान मामले हैं

वहीं 39 वर्ष के आशुतोष आनंद सबसे कम उम्र के अपर महाधिवक्ता बने हैं। इसके अतिरिक्त सचिन कुमार और अशोक कुमार को भी झारखंड में अपर महाधिवक्ता बनाया गया है। वहीं, मुकेश कुमार सिन्हा, नीलम तिवारी और वंदना सिंह को सीनियर स्थायी सलाहकार (Senior Permanent Advisor) बनाये गये हैं

Recent Posts

%d bloggers like this: