November 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखंड में छाये रहेंगे बादल, सूर्य ग्रहण देखने में होगी कठिनाई

अब तक सामान्य से 29 फीसदी अधिक बारिश, धानरोपणी व अन्य फसल के लिए फायदेमंद :

रवि सिन्हा,

राँची:- विश्व योग दिवस पर खगोलशास्त्री सूर्य ग्रहण का अध्ययन कर पाएंगे, लेकिन झारखंड के अधिकांश हिस्सों में अगले तीन दिनों तक आसमान में बादल छाये रहेंगे, जिससे सूर्य ग्रहण देखने में कठिनाई होगी या लोग इन इलाकों में सीधे तौर पर सूर्य ग्रहण नहीं देख पाएंगे, हालांकि ग्रहण के कारण अंधेरा होने से उन्हें सूर्यग्रहण का आभास हो पाएगा।
रांची स्थित भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक ने बताया कि राज्य के अधिकांश में अगले दिनों तक अच्छी बारिश होगी, इसके बाद पांच दिनों तक बारिश में थोड़ी कमी आएगी, लेकिन हल्के से लेकर मध्यम दर्जे की बारिश जारी रहेगी। वहीं आसमान में बादल छाये रहने से अधिकांश हिस्सों में 21 जून को सूर्यग्रहण देखने में लोगों को परेशानी होगी।

राज्यभर में 128.3 मिमी बारिश

झारखंड में मॉनसून के दस्तक देने के एक सप्ताह बाद तक अब तक सामान्य से 29 फीसदी अधिक बारिश हो चुकी है। इस दौरान राज्य में सामान्य रूप से करीब एक सौ मिलीमीटर बारिश होती थी, लेकिन इस वर्ष अब तक 128.3 मिमी बारिश हो चुकी है। हालांकि राज्य के चार जिलों में अब तक जरूर सामान्य से कम बारिश हुइ्र है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में इन जिलों में भी अच्छी बारिश से स्थिति में सुधार होगा।

प्री-मॉनसून बारिश भी रही अच्छी

प्री-मॉनसून के दौरान भी झारखंड की स्थिति अच्छी रही। 1 मार्च से लेकर 13जून तक राज्यभर में औसतन 211 मिमी बारिश हुई, जबकि पूर्व में इस दौरान औसतन 100 मिमी बारिश होती थी, इस तरह से पहले प्री-मॉनसून और अब मॉनसून के दौरान हो रही अच्छी बारिश से धानरोपणी के काम में तेजी आने की उम्मीद है,वहीं अन्य फसलों के लिए भी यह बारिश काफी फायदेमंद होगी।

सुखाड़ का सामने करने वाले पलामू प्रमंडल में अच्छी बारिश

मॉनसून के दौरान यह उल्लेखनीय है कि अलग झारखंड राज्य गठन के बाद अधिकांश वर्षां के दौरान सुखाड़ की स्थिति का सामने करने वाले पलामू जिले में इस वर्ष अब तक 180मिमी बारिश हो चुकी है, जो सामान्य से 227प्रतिशत अधिक है। यहां औसतन सिर्फ 55 प्रतिशत बारिश ही होती है। इसी तरह से लातेहार जिले में भी सामान्य से 141फीसद और गढ़वा जिले में 102 फीसदी अधिक बारिश हुई है।

संताल के तीन जिलों देवघर, पाकुड़, दुमका में स्थिति चिंताजनक

संताल परगना प्रमंडल के तीन जिलों देवघर, पाकुड़ और दुमका जिले में अब तक हुई बारिश से थोड़ी चिंता उत्पन्न हुई है। देवघर जिले में अब तक सामान्य से 74 फीसदी कम बारिश हुई , वहीं पाकुड़ में भी 48 और दुमका में सामान्य से 8 प्रतिशत कम बारिश हुई है। इसके अलावा गुमला जिले में भी सामान्य से 35 प्रतिशत कम बारिश हुई है।

अन्य जिलों में सामान्य से अधिक बारिश

राज्य के अन्य सभी जिलों में सामन्य से अधिक बारिश हुई है। चतरा में सामान्य से 40 फीसदी अधिक बारिश हुई है, वहीं धनबाद में 9, पूर्वी सिंहभूम में 21, गिरिडीह में 22, गोड्डा में 23, हजारीबाग में 40, जामताड़ा में 16, खूंट में 3, कोडरमा में 25, लोहरदगा में 11, रामगढ़ में 62, रांची में 13, साहेबगंज में 11, सरायकेला-खरसावां जिले में 11, सिमडेगा में 40 और पश्चिमी सिंहभूम जिले में अब तक सामान्य से 34 प्रतिशत बारिश हो चुकी है।

Recent Posts

%d bloggers like this: