November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

परिमल नथवाणी आंध्र प्रदेश से राज्यसभा में चुने गए

राँची:- वर्ष 2008 से राज्य सभा में लगातार दो टर्म तक झारखंड का प्रतिनिधित्व करने वाले रिलायन्स इन्डस्ट्रीज़ के सिनियर ग्रूप प्रेसिडेन्ट श्री परिमल नथवाणी आज अमरावती में आंध्रप्रदेश से वाय.एस.आर. कोंग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर राज्यसभा में सांसद चुने गए है।

राज्य सभा के चुनाव में जीत हासिल करने के बाद श्री नथवाणी ने कहा कि, “आंध्रप्रदेश के लोगों की सेवा करने का मौका देने के लिए मैं बहुमुखी प्रतिभा के धनी और लोकप्रिय मुख्यमंत्री श्री वाय. एस. जगनमोहन रेड्डी और वाय.एस.आर. कोंग्रेस पार्टी का आभारी हूं।उन्हे आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री बने हुए सिर्फ एक साल हुआ है और इस एक ही वर्ष में दिए हुए वचनों में से 90 प्रतिशत वचनों की पूर्ति कर चुके है और आनेवाले चार वर्षों में भी मुख्यमंत्री राज्य के समुचे विकास के लिए बहुत कुछ करेंगे।हमारे मुख्यमंत्री ने उनके वचन के अनुसार नवरत्नालु मतलब की नौ कल्याणकारी योजनाओ को अमलीजामा पहना दिया है और इनके इस कार्य को चारों और से सराहा गया है।”

श्री नथवाणी ने बताया कि, “आंध्रप्रदेश के विकास के लिए मैं पूर्ण रूप से कटिबद्ध हूं और मुख्यमंत्री और उनकी टीम के साथ मिलकर राज्य के विकास के लिए कार्य करुंगा। झारखंड से राज्यसभा सदस्य के तौर पर 12 वर्षो के कार्यकाल और रिलायन्स इन्डस्ट्रीज़ में दशकों तक काम करने का मेरा अनुभव यहां काम लगेगा।”

लगातार दो टर्म (12 वर्ष) तक झारखंड से राज्यसभा के सदस्य के तौर पर श्री परिमल नथवाणी ने प्रसंशनीय काम किया है और उनके सांसद स्थानिक विस्तार विकास (ए.पी.एल.ए.डी.) और सांसद आदर्श ग्राम योजना (एल.ए.जी.वाय.) निधि का लगभग 100 प्रतिशत उपयोग उन्होंने बुनियादी सुविधाओं, शिक्षा, आरोग्य, स्वच्छता और कौशल विकास के कामों में किया है। एस.ए.जी.वाय. के तहत गोद लिए गए तीन आदर्श ग्राम पंचायतों बड़ाम-जराटोली, चुट्टु और बरवादाग में उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों का व्याप विशाल स्तर पर था।

श्री नथवाणी रिलायन्स इन्डस्ट्रीज़ के अध्यक्ष और प्रबंध संचालक श्री मुकेश अंबाणी की कोर टीम के सदस्य के तौर पर प्रसिद्ध है।वे रिलायन्स के संस्थापक धीरुभाई अंबाणी को अपना गुरु और आदर्श मानते हैं।उन्होंने गुजरात के जामनगर में विश्व के सबसे बड़े रिफाइनरी संकुल की स्थापना करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने के उपरांत देश के पश्चिमी राज्यों में रिलायन्स पेट्रोलियम के रिटेल आउटलेट, रिटेल व्यवसाय, गैस परिवहन पाइपलाइन और जियो मोबाइल नेटवर्क समैत बुनियादी परियोजनाओं को अमलीजामा पहनाने में अहम भूमिका अदा की थी।

कुछ दिनों पहले जारी किए गए सामाजिक-आर्थिक सर्वे 2019-20 के अनुसार, आंध्र प्रदेश का सकल घरेलु उत्पाद (ग्रोस स्टेट डोमेस्टिक प्रोडक्ट – जी एस डी पी) रू. 9,72,782 करोड था जो वित्तिय वर्ष 2018-19 के रू.8,62,957 करोड की तुलना में 12.73 प्रतिशत की बढोतरी दर्शाता है।गौरतलब है कि आंध्र प्रदेश का जी एस डी पी ग्रोथ वर्ष 2019-20 में 8.16 प्रतिशत रहा था।

श्री नथवाणी ने कहा कि, “मुख्यमंत्री श्री जगनमोहन रेड्डी को उनके पिता श्री वाय.एस. राजशेखर रेड्डी के निधन पश्चात काफी समस्याओं और चुनौतियों का सामना करना पडा था, लेकिन उन्होंने उन सभी बाधाओं को पार किया। जन नेतृत्व के लिए उन्होंने प्रचंड सामर्थ्य का प्रदर्शन किया है।वे सिर्फ आंध्रप्रदेश के ही नहीं परंतु समग्र देश, खास कर के दक्षिणी राज्यों के लोगों का नेतृत्व करने में सक्षम है।श्री जगनमोहन रेड्डी के साथ तुलना हो सके या उनके साथ स्पर्धा कर सके ऐसा दुसरा कोई युवा नेता अभी दिख नहीं रहा, इसीलिए कह सकते है कि वे आंध्रप्रदेश और दक्षिणी भारत की राजनीति में वे लंबे समय तक बडी ताकत बने रहेंगे। उनके नेतृत्व में उनके और उनकी पार्टी के साथ मिलकर आंध्रप्रदेश की सेवा करना मेरे लिए बहुत बडा सौभाग्य है।”

श्री नथवाणी युवावस्था के दिनों से ही सार्वजनिक जीवन में रूचि रखते थे और सौराष्ट्र के सांसदों से जुडे रहते थे और एक बार तो उन्होंने जाम खंभालिया से विधानसभा का चुनाव लडने का भी प्रयास किया था। लोगों की समस्याओं को अलगअलग स्तर पर आवाज़ बनकर उठाने के लिए निरंतर प्रयास करते रहने पर उनको सौराष्ट्र की आवाज़ (वॉइसऑफसौराष्ट्र) के तौर पर जाना जाता है।

कुछ समय पहले तक गुजरात क्रिकेट एसोसियेशन (जी.सी.ए.) के उपाध्यक्ष पद पर रह चुके श्री परिमल नथवाणी ने ‘नमस्ते ट्रम्प’ कार्यक्रम के आयोजन स्थल के तौर पर चर्चा में रहे विश्व के सबसे बडे मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम, अहमदावाद के निर्माण कार्य का सफलतापूर्वक निरीक्षण किया था और समुचे आयोजन को अमली जामा पहनाया था।

श्री नथवाणी लगभग 15 साल तक गुजरात में स्थित प्रसिद्ध यात्रा धाम द्वारकाधीश मंदिर के उपाध्यक्ष रहे है।वे रिलायन्स के प्रतिनिधि के तौर पर गुजरात सरकार के साथ मिल कर पवित्र नगरी द्वारिका के विकास में भी सहभागी बने और उस कार्य को गति प्रदान की है।श्री नथवाणी नाथद्वारा टेम्पल बोर्ड के सदस्य के तौर पर नौ सालों से सेवारत है।

गुजरात स्टेट फूटबोल एसोसियेशन (जी.एस.एफ.ए.) के अध्यक्ष के तौर पर श्री नथवाणी के वर्ष 2019 के उत्तरार्ध में चुने जाने के बाद गुजरात में फूटबोल के विकास को असाधारण गति मिली है।

गीर लायनः“ प्राइड ओफ गुजरात”और“झारखंड मेरी कर्मभूमि” (हिन्दी) यह दो पुस्तकें श्री नथवाणी की क्षमताओं का परिचय देती है।झारखंड में उनके प्रदान पर ओर एक पुस्तक“एडोरेबल एन्ड एडमायरेबल परिमल नथवाणी”टाइम्सऑफइन्डिया, रांची द्वारा जल्द ही प्रकाशित किया जाएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: