November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सहरसा के शहीद कुन्दन पंच तत्व में विलीन, छह वर्षीय पुत्र ने दी मुखाग्नि

सहरसा:- भारत और चीनी सेनाओं के बीच गैलवान इलाके में हुई हिंसक झड़प में एक कर्नल रैंक के अधिकारी सहित कुल 20 जवान शहीद हो गए । इनमें बिहार के भी पांच जवान शामिल हैं। उन पांच जवानों में से एक बिहार के सहरसा जिले के कुंदन कुमार भी शामिल हैं।

गुरुवार को भारतमाता के वीर सपूत कुंदन कुमार का पार्थिव शरीर राजधानी पटना एयरपोर्ट पहुंचा। जहाँ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित सत्तापक्ष और विपक्ष के तमाम नेताओं ने नम आंखों से वीर सपूतों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सड़क मार्ग से शुक्रवार को कुंदन का पार्थिव शरीर उनके गांव आरन पहुंचा। अपने जिगर के टुकड़े का शव देखकर परिजनों का बुरा हाल हो गया।चारो ओर क्रदन का स्वर सुनाई देने लगा। एक तरफ जहां अपने लाल को खोने का गम था तो दूसरी तरफ गर्व भी।

वीर कुंदन की अंतिम यात्रा के दौरान, उनके गांव में जन सैलाब उमड़ पड़ा तथा अपने माटी के लाल की एक झलक पाने के लिए लोग बेताब दिखे। हाँथो में तिरंगा थामे भारतमाता की गगनभेदी नारों के साथ लोगों का तांता लगा रहा।उधर आसमान भी अपने अश्रुपूरित नयनो से अपने वीर सपूत की अंतिम विदाई की साक्षी हो रहा था। वीर सपूत कुंदन की अंतिम यात्रा के दौरान, सब की आंखें नम थी और सभी को शहीद जवान पर गर्व महसूस हो रहा था।
शहीद कुंदन कुमार के छह वर्षीय पुत्र रौशन कुमार ने अपने पिता को मुखाग्नि दी। पूरा माहौल इस पल को देखकर गमगीन हो उठा। मौके पर बिहार सरकार के PHED विभाग के मंत्री विनोद नारायण झा, सांसद दिनेशचंद्र यादव, विधायक अरुण कुमार यादव सहित कई नेताओं ने शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की। डीएम, एसपी, डीआईजी सहित जिला प्रशासन के तमाम अधिकारी वहां मौजूद रहे।

Recent Posts

%d bloggers like this: