November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना टेस्ट के बाद अब इलाज भी सस्ता, कमेटी ने गृह मंत्रालय को दी रिपोर्ट

नई दिल्ली:- देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसी बीच बीते दिनों केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लगातार राज्य सरकार और अधिकारियों के साथ बैठक की। केंद्र द्वारा बनाई गई वीके पॉल कमेटी ने सरकार को सलाह दी है कि प्राइवेट अस्पतालों को कोरोना के इलाज का दाम एक तिहाई तक कम करना चाहिए।

वीके पॉल कमेटी ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। इसमें कहा गया है कि प्राइवेट अस्पतालों को एक तिहाई तक अपने दाम कम करने चाहिए।

कोरोना वायरस के इलाज के लिए जो लोग प्राइवेट अस्पतालों में जा रहे हैं, उन्हें काफी महंगी फीस देनी पड़ रही है। ऐसे में एक कैप फिक्स करने के लिए सरकार ने इस कमेटी को बनाया था, अब अगर कमेटी के सुझाव माने जाते हैं तो लोगों को बड़ी राहत मिल सकती है।

कमेटी की ओर से कई अन्य सुझाव भी दिए गए, जिनके मुताबिक,

8000-10000 रुपये प्रतिदिन आइसोलेशन बेड के लिए

13000-15000 ICU बिना वेंटिलेटर के प्रतिदिन

15000 से 18000 आईसीयू वेंटिलेटर के साथ प्रतिदिन

कमेटी के प्रस्ताव से पहले इस प्रकार थीं दरें…

24000-25000 प्रतिदिन आइसोलेशन बेड के लिए

34000-43000 प्रतिदिन आईसीयू बिना वेंटिलेटर के

44000-54000 प्रतिदिन आईसीयू वेंटिलेटर के साथ

बता दें कि इससे पहले भी कमेटी की सिफारिश के बाद ही सरकार ने दिल्ली में कोरोना वायरस के टेस्ट का दाम घटा दिया था।दिल्ली में पहले करीब 4500 रुपये में टेस्ट किया जा रहा था, जबकि अब सिर्फ 2400 रुपये में ये टेस्ट किया जाएगा।

यही कारण है कि अब दिल्ली में तेजी से टेस्ट करने की संख्या बढ़ रही है। दिल्ली सरकार का दावा है कि बीते दिन राजधानी में 20 हजार टेस्ट हुए थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: