December 1, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

श्रमदान कर युवाओं ने की कीचड़ से भरी सड़क की मरम्मति

एंबुलेंस, चार पहिया वाहन तो छोड़ दीजिए पैदल चलना भी हो चुका था मुश्किल

राँची:- शहरी क्षेत्र में मनमाना टैक्स वसूली के बाद भी शहरों में मूलभूत सुविधाओं से लोग आज भी वंचित है। वार्ड नंबर 13 केतारी बगान रेलवे फाटक से केतारी बगान मुंडागाढ़ा जाने वाली कच्ची सड़क को मंगलवार को केतारी बगान के युवाओं ने श्रमदान कर खुद से सड़क की मरम्मत की। सड़क की हालत इतनी खराब हो गई थी कि इसमें एंबुलेंस तो छोड़ दीजिए लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो गया था। मंगलवार को युवा नेता राज रौशन उर्फ पिंटू और पत्रकार विरेन्द्र रावत के संयुक्त प्रयास से सड़क की मरम्मत कराई गई। चार घंटे श्रमदान के बाद सड़क चलने युक्त बन सका। बता दे कि वार्ड नंबर 13 केतारी बगान में पिछले बीस सालों से एक कच्ची सड़क पक्की नहीं बन पाई। इसके दो मुख्य कारण है। पहला की यह सड़क रेलवे की जमीन पर बनी हुई है और दूसरा की झारखंड की राजनीति उदासीनता है। सांसद संजय सेठ, विधायक सीपी सिंह ने चुनाव के दौरान लोगों से कहां था कि चुनाव जीतने के बाद यह सड़क किसी भी हालत में बनवाई जाएगी, लेकिन चुनाव जीतने के बाद ना कोई नेता आया और ना ही सड़क बनी। स्थिति जस के तस बनी हुई है। बल्कि सड़क पहले से अधिक खराब हो गई है। वहीं सरकार की तरफ से कोई मदद नहीं मिला है। अधिकारी आम आदमी की सुनती नहीं और मेयर, डिप्टी मेयर, वार्ड पार्षद क्षेत्र भ्रमण करते नहीं है। वहीं सड़क मरम्मत के दौरान राज रौशन ने कहां कि हमें सरकार पर निर्भर नहीं होना है, खुद आत्मनिर्भर बनाना है। हमें चंदा जमा कर सड़क की खुद से मरम्मत करनी पड़ेगी। जिस तरह हम अपने घर की समय – समय पर मरम्मत करते है उसी प्रकार सड़क की समय – समय पर मरम्मत करवानी पड़ेगी, तभी सड़क पर चलना संभव हो पाएगा।

दो ट्रक डस्ट को सड़क पर फैलाया गया, तभी चलने लायक बनी सड़क

वहीं कीचड़ से खराब हो चुकी सड़क की मरम्मत के लिए दो ट्रक डस्ट कच्ची सड़क पर फैलाया गया। जिसके बाद सड़क चलने युक्त बन सका। फिलहाल सड़क की स्थिति ठीक हुई है।

इन युवाओं ने की मदद

सड़क मरम्मत के कार्य में राज रौशन उर्फ पिंटू, पत्रकार विरेन्द्र रावत, उदय कुमार यादव, शिवजीत कुमार, रमेश शर्मा आदि ने अपना योगदान दिया।

Recent Posts

%d bloggers like this: