December 1, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पवित्रतम् तिथि एकादशी पर होगा श्रीवेंकटेश्वर मंदिर में अनुष्ठान

रांची:- 17 जून बुधवार को श्रीलक्ष्मीवेंकटेश्वर मंदिर में आषाढ़ कृष्णपक्ष की योगिनी एकादशी का व्रत मनाया जायेगा। अनुष्ठान की पूरी प्रक्रिया मंदिर के बाहरी कपाट को बन्द रख कर ही की जायेगी। कोरोना महामारी के संक्रमन से बचाव के लिये श्रद्धालुओं का दर्शन अभी वर्जित रखा गया है।

आषाढ़ के कृष्णपक्ष की एकादशी का नाम योगिनी है। यह बड़े-बड़े पातको का नाश करनेवाली है। संसार सागर में डूबे हुए प्राणियों के लिए यह सनातन नौका के समान है। तीनों लोगों में इस व्रत का महत्व है। इस व्रत को विधिवत करने से कोढ़ नामक रोग दूर होता है। यह योगिनी महान् पापों को शान्त करनेवाली और महान् पुण्य-फल देनेवाली है।

एकादशी व्रत करने का नियम:- दशमी को एक समय भोजन करें, धुला हुआ वस्त्र पहने और तन-मन से निर्मल रहें। फिर ब्रह्ममुहूर्त्त में उठकर एकादशी तिथि में श्रीमन्नारायण को प्रणाम निवेदन करें फिर शौचादि से निवृत हो स्नान करें। फिर मंदिर में भगवान् श्रीमन्नारायण का पूजन-अर्चना करके नैवेद्य का भोग लगावें। श्री हरि का संकीर्तन करें।

Recent Posts

%d bloggers like this: