November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गिरिडीह हत्या के आरोपियों को जिन्दा जलाने की कोशिश,एक को पुलिस वाहन से उतार कर मारा

आक्रोशित ग्रामीणों ने घटना को दिया अंजाम, बचाव में जुटे पुलिसकर्मी घायल

राँची:- झारखंड के गिरिडीह जिले के पीरटांड़ थाना क्षेत्र में शनिवार की सुबह हत्या के आरोपियों को जिन्दा जलाने की कोशिश की गयी। आक्रोशित ग्रामीणों ने इस घटना को अंजाम दिया और मौके पर जुटी पुलिस टीम पर भी भीड़ ने हमला कर दिया, जिसमें कई पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गये। घटना की सूचना मिलने पर जिले के उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गये है।
घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार पीरटांड़ थाना क्षेत्र के पिपराटांड़ में दस दिनों पहले हुई हत्या की घटना से नाराज ग्रामीणों शनिवार अहले सुबह हत्या के पांच आरोपियों को जिन्दा जलाने की कोशिश की। लेकिन घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने आरोपियों को जिन्दा जलने से बचा लिया। पुलिस आरोपियों को भीड़ से बचा कर पुलिस वाहन पर बैठाने की कोशिश कर रही थी, तभी आक्रोशित लोगों ने पुलिस वाहन पर हमला कर हत्या के एक आरोपी सुरेश मरांडी की जान ले ली।
पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा ने बताया कि 3जून की रात पीरटांड़ थाना क्षेत्र इलाके बिशनपुर पंचायत अंतर्गत 32वर्षीय युवक हीरालाल किस्कू की हत्या जमीन विवाद के कारण कर दी गयी थी। युवक का शव उसके घर से थोड़ी दूरी पर अवस्थित कुसुम्भा नाला के निकट से मिला था। इस मामले में सात लोगों को नामजद अभियुक्त बताते हुए शिकायत दर्ज करायी गयी थी।
बताया गया है कि प्राथमिकी दर्ज होने के बाद सभी नामजद आरोपी फरार हो गये थे और हत्या आरोपियों द्वारा पीड़ित परिवार को ही शांत रहने की धमकी दी जा रही थी। इस धमकियों से गांव के लोग आक्रोशित थ। बताया जा रहा है कि शुक्रवार की रात पांच आरोपियों के घर पहुंचने की सूचना मिलने सैकड़ों की संख्या में लोगों ने शनिवार की सुबह ह नामजदों के घर को घेर लिया और आग लगा दी। हालांकि जिस कमरे में आग लगायी गयी , वहां पर नामजद आरोपी नहीं सोये हुए थे। इस बीच मामले की सूचना पर पुलिस की टीम पहुंची। पुलिस ने सभी को घर से निकाला और सभी हत्यारोपियों को पुलिस वाहन पर बैठाया जाने लगा। इसी दौरान लोगों ने एक आरोपी को पकड़ लिया और हत्या कर दी। बीच बचाव के क्रम में पुलिस के जवान भी चोटिल हो गए। बाद में पुलिस के द्वारा हवाई फायरिंग करनी पड़ी। लगभग 10 चक्र हवाई फायरिंग के बाद ग्रामीण पीछे हटे। स्थिति को देखते हुवे भारी संख्या में बलों की तैनाती गाँव मे की गयी है।
इधर मामले की गम्भीरता को देखते हुए उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा के साथ पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा भी मौके पर पहुंचे और गांव में पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गयी है।

Recent Posts

%d bloggers like this: