November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पशुओं के मौत पर लोगों में आक्रोश

पशुओं को सुरक्षित व्यवस्था देने वाले संस्था ‘ध्यान फाउंडेशन’ पर स्वांग रचने का आरोप

किशनगंज:- पशुओं के रख- रखाव में लापरवाही एवं भोजन पानी के बिना भूख से तरफ-तरफ कर पशुओं का मरणा स्थानीय लोगों में आक्रोश का कारण बन गया। किशनगंज भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष सुशांत गोप एवं रेड क्रोस सोसायटी के सचिव आभास कुमार उर्फ मिकी ने सम्बंधित व्यवस्थापक एवं अधिकारियों से बात की और तब जाकर कहीं मामला ठंडा होता नजर आया।

मंगलवार को भाजपा जिलाध्यक्ष गोप ने व्यवस्थापक पर रखरखाव व भोजन के अभाव संबंधित आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि दिल्ली की ध्यान फाउंडेशन संस्था जो पशुओं की सुरक्षा में दिन- रात काम करती है। मगर ध्यान फाउंडेशन की यहां पोल खुल गई। पशुओं के प्रति सुरक्षा का स्वांग रचने का भी आरोप लगा। ध्यान फाउंडेशन पशुओं का ध्यान नही रखती है। अजीब बात है कि पशुओं का ध्यान रखने में काम करने वाली संस्था का पशुओं के व्यवस्था के प्रति कोई ध्यान नही रखती।
ज्ञात हो कि ध्यान फाउंडेशन के द्वारा स्थानीय जिला के भूतनाथ गौशाला में पिछले दिनों झारखंड से कुल 2000 पशुओं को लाकर स्थानीय गौशाला समिति के व्यवस्था में दिया गया। लेकिन गौशाला प्रबंधन समिति के लोग भी लापरवाह निकले। यह साबित करता है कि यहाँ पशुओं की कोई कदर नहीं है। न जाने कितने पशुओं की भूख से तरफ कर मौत हो गई है। रखरखाव की ऐसी व्यवस्था है कि पूछिये मत। घुटने भर जमा पानी जो पशुओं के मल – मूत्र से युक्त है। सरांध और बदबू ऐसा की स्थानीय आसपास के लोगों को महामारी हो जाए ।ऐसे में इन बेजुबान जानवरों का मौत के आगौश में जाना स्वाभाविक है।
लोगों में आए आक्रोश के बाद स्थानीय प्रशासन भी हरकत में आई ।और अच्छी व्यवस्था का आश्वासन दिया गया। तब कहीं लोगों का आक्रोश शांत हुआ।
मौके पर विधान पार्षद डाॅ दिलीप जायसवाल, एसडीएम शाह नवाज अहमद नियाजी, आरक्षी अधीक्षक, नगर परिषद उपाध्यक्ष प्रतिनिधि त्रिलोचंद जैन इत्यादि अन्य प्रमुख जन घटना स्थल का निरीक्षण कर पशुओं की सुरक्षा व्यवस्था में हर संभव प्रयास का निर्देश संबंधित विभाग को दिया गया है ।
संवाददाता सुबोध

Recent Posts

%d bloggers like this: