November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पति – पत्नी काल में सुबे में शिक्षा की कमी थी : नीतिश कुमार

किशनगंज:- बिहार सरकार के मुख्यमंत्री सह जनता दल यूनाइटेड के नेता, नीतिश कुमार आज सोमवार को वर्चुअल संवाद के माध्यम से किशनगंज व अररिया जिले के पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं से मुखातिब हुए। यह जानकारी स्थानीय पार्टी जिला प्रवक्ता सत्य प्रकाश ने दी।

उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री, नीतिश कुमार ने स्थानीय जिला एवं अररिया जिला के अध्यक्ष, जिला कार्यकारिणी सदस्य, प्रखंड अध्यक्ष एवं विभिन्न प्रकोष्ठों के जिला अध्यक्षों के साथ दिन के 12 बजे वर्चुअल सम्बोधन के माध्यम से मुखातिब हुए।

माननीय मुख्यमंत्री ने अपने अभिभाषण में कहा कि बिहार सरकार ने इस कोरोना काल मे मई के प्रथम सप्ताह से लेकर 3 जून तक 1474 स्पेशल ट्रेन का परिचालन करवाकर लगभग 20,51,000 मजदूरों को बिहार वापस लाने का काम किया है। और सुबे में प्रखंड स्तर पर 15036 क्वारंटाइन सेन्टर बना कर लगभग पंद्रह लाख लोगों को चौदह दिनों तक रखकर, भोजन पानी एवं दवा की समुचित व्यवस्था करवायी गयी एवं क्वारंटाइन सेंटर से छोड़ते समय सभी को रु 1000/- नगद दिया गया है।
लाॅकडाउन के समय प्रदेश से बाहर रह रहे लोगों को एनडीए सरकार द्वारा रु 1000/- की सहायता राशि एवं विभिन्न स्थानों पर भोजन की भी व्यवस्था करवायी गयी।
सी एम ने आगे कहा कि अब सुबे में नए रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए नए उद्योगों की स्थापना के लिए साकार दृढ़ संकल्पित है और यह सरकार की प्राथमिकता होगी।
उन्होंने कहा कि मनरेगा अंतर्गत ग्रामीण इलाकों में नए सिरे से कार्य योजना तैयार की गई है और जीविका समूह के द्वारा करोड़ों महिलाओं को रोजगार दिया भी गया है जिसका अच्छा परिणाम दिखाई दे रहा है। उन्होंने जोर देकर कहा कि प्रदेश से बाहर काम कर रहे लोगों को प्रवासी न कहे क्योंकि ये लोग अपने ही देश में काम कर रहे थे और कोई अपने देश मे प्रवासी कैसे हो सकता है।
उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि बिहार के प्रत्येक जिले में अल्पसंख्यक के लिए विद्यालयों का निर्माण करने की योजना है जिसमे आठ जिलो में जमीन देखी जा चुकी है। दलित एवं महादलित, अल्पसंख्यक महिला के लिए भी न्याय के साथ विकास की कार्य योजना को मूर्तरूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किशनगंज जिला में कृषि महाविद्यालय खोला गया जो विश्व स्तरीय है जिसमे कृषि के अलावे हॉर्टिकल्चर, फिशरीज, एनिमल हसबेंडरी, मत्स्य पालन आदि के प्रशिक्षण का काम प्रारम्भ किया जा चुका है।
माननीय मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिए ही कहा कि पति- पत्नी काल मे शिक्षा के लिए विद्यालय की कमी थी किन्तु अब सुबे में लगभग सभी पंचायत में उच्च विद्यालय है और स्वस्थ शिक्षा का संचार हो रहा है।
सी एम के साथ इस मीटिंग में सांसद राम चन्द्र प्रसाद सिंह, बिहार सरकार के मंत्री विजेंद्र यादव, अशोक चौधरी, संजय झा आदि ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।
स्थानीय जिला मुख्यालय में वर्चुअल संवाद सुनने वालों में जिला अध्यक्ष बुलंद अख्तर हाशमी, महासचिव रेयाज अहमद सहित अन्य प्रमुख पार्टी नेताओं ने भाग लिया ।

संवाददाता सुबोध

Recent Posts

%d bloggers like this: