November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

परिवहन मजदूर यूनियन का एक दिवसीय धरना 10 जून को

दुमका:- झारखंड परिवहन मजदूर यूनियन की दुमका जिला कमेटी ने राज्य सरकार और जिला प्रशासन स्तर पर लाक डाउन की वजह से आर्थिक संकट से जूझ रहे परिवहन मजदूरों की समस्याओं के निदान की दिशा में कोई सकारात्मक पहल किये जाने पर असंतोष जताते हुए अपनी विभिन्न मांगों को लेकर दस जून को धरना आयोजित करने तथा मुख्यमंत्री को प्रेषित मांग पर उपायुक्त को सौंपने का निर्णय लिया है। झापमयू के उपाध्यक्ष विनोद कुमार रावत की अध्यक्षता में रविवार को निजी बस स्टैंड स्थित यूनियन कार्यालय में आयोजित बैठक में ढ़ाई माह से जारी लाक डाउन की वजह से परिवहन सेवा बंद रहने से परिवहन मजदूरों की दयनीय स्थिति पर विचार विमर्श किया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए विनोद कुमार ने कहा कि 23 मार्च से अभी तक बसों का परिचालन सेवा बंद रहने से कर्मियों की आर्थिक स्थिति दयनीय हो गयी है। उनके परिवार दाने दाने को मोहताज हो रहे हैं। मजदूरों अपने बाल बच्चों का भरण पोषण करने में असमर्थ हैं। सरकार व जिला प्रशासन की ओर से मोटर मजदूरों के प्रति घोर उपेक्षा पूर्ण नीति के खिलाफ बीते 17 और 26 मई को सांकेतिक धरना के माध्यम से यूनियन द्वारा अपनी मांगों को रखा था। उसके बाद भी अभी तक सरकार व प्रशासन के स्तर से कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया। इस क्रम में बैठक में मौजूद सदस्यों ने सर्वसम्मति से आगामी दस जून को यूनियन कार्यालय के समीप लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिग के नियमों का अनुपालन करते हुए एक दिवसीय धरना कार्यक्रम आयोजित करने तथा प्रतिमंडल द्वारा मुख्यमंत्री को संबोधित एक मांग पत्र उपायुक्त को सौंपने का निर्णय लिया गया। बैठक में यूनियन के प्रमुख नेताओं में मोहम्मद सत्तार, छोटू पासवान, मोहम्मद अकरम, दिलीप मल्लाह, मनोज भंडारी, पिकू नाथ दास, सीताराम, कामेश्वर सिंह व अजीत सिंह के साथ बस कर्मी, ऑटो चालक और ई रिक्शा चालक भी शामिल हुए।

Recent Posts

%d bloggers like this: