November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लॉज – हॉस्टल संचालकों के मनमानी पर रोक लगाए सरकार : गौतम सिंह

राँची:- अखिल झारखंड छात्र संघ (आजसू) के प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह एवं मारवाड़ी महाविद्यालय छात्र संघ अध्यक्ष जमाल गद्दी ने संयुक्त रूप से मुख्यमंत्री को पत्र लिख राज्य के लॉज- हॉस्टल संचालकों के संगठन “झारखंड हॉस्टल ओनर्स एसोसिएशन“ के मनमानी पर रोक लगाने की अपील की है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा गया है कि झारखंड हॉस्टल ओनर्स एसोसिएशन ने पत्र लिखकर सभी लॉज हॉस्टल संचालकों को लॉकडाउन अवधि का भी आवासीय शुल्क लेने का निर्देश दिया है जो अमानवीय एवं निंदनीय है।
आजसू के प्रदेश अध्यक्ष गौतम सिंह ने कहा कि लाखों की संख्या में ग्रामीण क्षेत्र से सभी वर्ग के छात्र छात्राएं अपने शिक्षा एवं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी आदि के उद्देश्य से राज्य के विभिन्न शहरों में स्थित निबंधित एवं गैर निबंधित लॉज- हॉस्टल में रहते आये है। आज जब पूरे राज्य की जनता विश्व कोविड-19 रूपी महामारी से लड़ाई लड़ रही है और इस लड़ाई के दौरान आ रहे विभिन्न कठिनाइयों के बीच सरकार का साथ देते हुए सरकार के निर्देशों का पालन कर रही है। ऐसे में लॉज- हॉस्टल संचालकों के कथाकथित यूनियन ने तानाशाही फरमान जारी करते हुए सभी लॉज हॉस्टल लॉकडाउन अवधि का भी आवासीय शुल्क छात्र छात्राओं से लेने का फरमान जारी किया है। झारखंड हॉस्टल ओनर्स एसोसिएशन द्वारा लॉकडाउन अवधि का भी शुल्क वसूली रूपी मनमानी के खिलाफ आजसू आंदोलन खड़ा करेगी।
मारवाड़ी महाविद्यालय छात्र संघ अध्यक्ष जमाल गद्दी ने कहा कि झारखंड हॉस्टल ओनर्स एसोसिएशन लॉज निर्माण कर लिए ऋण, लॉज होस्टल स्टाफ के वेतन आदि का हवाला देकर यह मनमानी करने की फिराक में है जबकि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सभी प्रकार के ऋण के ई.एम.आई भी जून माह तक बैंकों को ना लेने का निर्देश जारी किया है। ऐसे में लॉज-हॉस्टल संचालकों को भी ऋण संबंधी राहत प्राप्त है। फिर भी लॉज- होस्टल संचालकों द्वारा छात्र छात्राओं पर लॉकडाउन अवधि का शुल्क देने संबंधी दबाब बनाने का निंदनीय प्रयास कर रहे है।
पत्र के माध्यम से आजसू ने मुख्यमंत्री एवं स्थानीय प्रशासन से मांग की है कि लाखों छात्र छात्राओं के साथ किये जा रहे मानसिक प्रताड़ना से छात्र छात्राओं को राहत देने हेतु लॉकडाउन अवधि का लॉज-हॉस्टल शुल्क पूर्णतः अथवा 75प्रतिशत शुल्क माफी का निर्देश जारी किया जाए।

Recent Posts

%d bloggers like this: