November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

विस समितियां विषय वस्तु की गराई से अध्ययन कर जनहित में निपटारा करें-स्पीकर

विस् की समितियों व नवगठित सदस्यों की बैठक

राँची :- झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो की अध्यक्षता में आज विधानसभा की नवगठित समितियों के सभापति और सदस्यों की रांची में बैठक हुई। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि संसदीय कार्य प्रणाली में समिति व्यवस्था एक अत्यंत महत्वपूर्ण पहलू है और समितियों की नियुक्तियों की मूल कल्पना यह है कि विषिष्टता के साथ विषय वस्तु के गहराई से अध्ययन कर जनहित में उसका निपटारा किया जाए।
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि लोकसभा और राज्यसभा की विभिन्न स्थायी समितियों के प्रतिवेदन और उनमें सन्निहित अनुशंसाओं तथा उनके क्रियान्वयन से संबंधित आंकड़ों का अवलोकन करने पर डनहें यह जानकर सुखद आश्चर्य हुआ कि संसद यानि लोकसभा और राज्यसभा की विभागों से संबंद्ध स्थायी समितियों के प्रतिवेदन की अनुशंसाओं में से लगभग 60 प्रतिशत तक अनुशंसाएं को सरकार द्वारा मान ली जाती है और उनका क्रियान्वयन किया जाता है। वहीं प्रत्यायुक्त विधानसभा समिति की लगभग 80 से 85 प्रतिशत तक अनुशंसाओं को सरकार स्वीकार कर लेती है।
बैठक में संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम ने भी समिति व्यवस्था को सुदृढ़ करने के निमित्त कहा कि हमें स्वतः समिति की गरिमा को अक्षुण्ण रखने के लिए दृढ़संकल्पित होना पड़ेगा, ताकि कार्यपालिका पर इसका सकारात्मक असर पड़े। विधायक निधि अनुश्रवण समिति के सभापति सीपी सिंह ने बैठक में कहा कि विभागों की वरीय पदाधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने और सभी विभागों में समिति की कार्रवाई के लिए नोडल अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति होनी चाहिए।

Recent Posts

%d bloggers like this: