November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

1 जून से रेल परिचालन को लेकर बैठक

चाइबासा:- आगामी 1 जून से प्रारंभ हो रहे रेलवे के परिचालन को देखते हुए पश्चिमी सिंहभूम जिले के उपायुक्त और पुलिस अधीक्षक द्वारा चक्रधरपुर रेल मंडल के पदाधिकारी, डॉक्टर तथा सुरक्षा कर्मी के साथ मंडल अस्पताल बैठक आयोजित कर तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।
बैठक में पश्चिमी सिंहभूम जिला से अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी साहिर पाल, नजारत प्रभारी रवि कुमार, चक्रधरपुर रेल मंडल के डिविजनल कमर्शियल मैनेजर विजय यादव, कमर्शियल इंस्पेक्टर मोयनक दत्ता, एडिशनल चीफ मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ.एस.सोरेन तथा आरपीएफ के सहायक सुरक्षा कमांडेंट संजय भगत उपस्थित रहे। आज के बैठक में प्रमुख रूप से ट्रेनों के परिचालन प्रारंभ होने के उपरांत इस जिले अंतर्गत विभिन्न स्टेशनों पर यात्रा कर लौटने वाले यात्रियों के आने के पश्चात उनके स्वास्थ्य जांच के लिए आवश्यक प्रोटोकॉल के विषयों पर विस्तृत रूप से चर्चा की गई है।
बैठक के उपरांत उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि प्राप्त सूचना के अनुसार आगामी 01 जून से रेलवे मंत्रालय के द्वारा देशभर में चुनिंदा ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ किया जा रहा है तथा इसके तहत जिले अंतर्गत विभिन्न स्टेशनों से होकर 3 जोड़ी ट्रेनों अर्थात 06 ट्रेनों का परिचालन होगा। उन्होंने बताया कि बैठक में प्रमुख रूप से यात्रा कर वापस लौट रहे यात्रीगण जब जिले अंतर्गत स्टेशनों पर आएंगे तो उनके लिए किस तरह का स्वास्थ्य प्रोटोकॉल तैयार करते हुए उनका किस प्रकार निबंधन करना है आदि जैसे विषयों पर चर्चा की गई है। उपायुक्त ने बताया कि चक्रधरपुर मंडल अंतर्गत तीन ट्रेन यथा अहमदाबाद-हावड़ा ट्रेन एवं हावड़ा-मुंबई ट्रेन का आगमन एवं प्रस्थान होगा तथा इसी प्रकार हावड़ा-बड़बिल जनशताब्दी ट्रेन का भी परिचालन आगामी 1 जून से प्रारंभ होगा।
उपायुक्त ने बताया कि ट्रेनों के परिचालन प्रारंभ होने के उपरांत इस जिले अंतर्गत चाईबासा स्टेशन सहित अन्य स्टेशन यथा डंगुवापोसी ,बड़ाजामदा आदि स्टेशनों पर भी ट्रेनों का ठहराव होगा। ऐसे सभी ट्रेनों के ठहराव वाले स्टेशन को चिन्हित करते हुए वहां पर दंडाधिकारी एवं आवश्यक सुरक्षा बल प्रतिनियुक्त करने हेतु बैठक में निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि बैठक में रेलवे के पदाधिकारियों के द्वारा सूचना दिया गया कि जिले अंतर्गत स्टेशनों से प्रस्थान करने वाले सभी व्यक्तियों का स्वास्थ जांच एवं निबंधन करने की जिम्मेवारी रेलवे प्रशासन की होगी और जो व्यक्ति यात्रा करते हुए जिला अंतर्गत स्टेशन पर आगमन होता है (अगर यात्रा करने वाले व्यक्ति का प्रस्थान स्टेशन इसी जिला अंतर्गत है तो ऐसे व्यक्ति को छोड़कर) और वह दूसरे अन्य हॉटस्पॉट जिले से आ रहे हैं तो उनका स्वास्थ्य जांच कराते हुए, उनके ट्रैवल हिस्ट्री के आधार पर उनको क्वॉरेंटाइन करना है या नहीं, इस संबंध में आगामी 01 जून को जो सरकारी आदेश लागू होगा उसके तहत कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी और आगे भी जिला प्रशासन रेलवे प्रशासन के साथ मिलकर भविष्य में जब और ट्रेनों के परिचालन की संख्या बढ़ेगी तो उस चुनौती को भी हम सब मिलकर संभाल लेंगे।

Recent Posts

%d bloggers like this: