November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

राँची:- छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी का 29 मई 2020 शुक्रवार को निधन हो गया। वे 74 साल के थे। डॉक्टरों ने कोशिशें कीं, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। अजीत जोगी ने दोपहर 3 बजकर 30 मिनट पर आखिरी सांस ली। वे 2000 से 2003 के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहे। बेटे अमित जोगी ने ट्वीट कर पिता अजीत के निधन की जानकारी दी। अजीत जोगी का पूरा नाम अजीत प्रमोद कुमार जोगी था। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के पेंड्रा में 29 अप्रैल 1946 को उनका जन्म हुआ। वे बीई मैकेनिकल में गोल्ड मेडलिस्ट रहे। फिर रायपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज में वे 1967-68 में लेक्चरर रहे। बाद में वे आईएएस बने। 1974 से 1986 तक सीधी, शहडोल, रायपुर और इंदौर में कलेक्टर रहे। 1986 में राजीव गाँधी के कहने पर अजीत जोगी ने कलेक्टर की नौकरी छोड़ी और कांग्रेस पार्टी से राजनीतिक सफर की शुरुआत की।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अजीत जोगी के निधन पर जताया शोक

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का आज निधन हो गया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अजीत जोगी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि परमात्मा उनकी आत्मा को शांति प्रदान कर परिवार वालों को इस दुःख की घड़ी सहन करने की शक्ति दे।

अर्जुन मुंडा ने अजीत जोगी के निधन पर शोक जताया

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर गहरा दुःख जताया है। उन्होंने कहा कि स्व जोगी एक संघर्षशील नेता थे। भगवान उनकी आत्मा को शांति एवं उनके परिजनों को इसे सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

राँची:- छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री रहे अजीत जोगी का 29 मई 2020 शुक्रवार को निधन हो गया। वे 74 साल के थे। डॉक्टरों ने कोशिशें कीं, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। अजीत जोगी ने दोपहर 3 बजकर 30 मिनट पर आखिरी सांस ली। वे 2000 से 2003 के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहे। बेटे अमित जोगी ने ट्वीट कर पिता अजीत के निधन की जानकारी दी। अजीत जोगी का पूरा नाम अजीत प्रमोद कुमार जोगी था। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के पेंड्रा में 29 अप्रैल 1946 को उनका जन्म हुआ। वे बीई मैकेनिकल में गोल्ड मेडलिस्ट रहे। फिर रायपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज में वे 1967-68 में लेक्चरर रहे। बाद में वे आईएएस बने। 1974 से 1986 तक सीधी, शहडोल, रायपुर और इंदौर में कलेक्टर रहे। 1986 में राजीव गाँधी के कहने पर अजीत जोगी ने कलेक्टर की नौकरी छोड़ी और कांग्रेस पार्टी से राजनीतिक सफर की शुरुआत की।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अजीत जोगी के निधन पर जताया शोक

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का आज निधन हो गया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अजीत जोगी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि परमात्मा उनकी आत्मा को शांति प्रदान कर परिवार वालों को इस दुःख की घड़ी सहन करने की शक्ति दे।

अर्जुन मुंडा ने अजीत जोगी के निधन पर शोक जताया

केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर गहरा दुःख जताया है। उन्होंने कहा कि स्व जोगी एक संघर्षशील नेता थे। भगवान उनकी आत्मा को शांति एवं उनके परिजनों को इसे सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

Recent Posts

%d bloggers like this: