November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ब्रेकिंग : जरेडा के निदेशक के खिलाफ बड़ा शिकंजा, जरेडा कार्यालय में एसीबी का छापा

राँची:- 170 करोड़ के घोटाले के मामले में जरेडा के निदेशक के खिलाफ बड़ा शिकंजा जा रहा है। डोरंडा स्थित जरेडा कार्यालय में शुक्रवार को एसीबी का छापेमारी की। इस दरमियान एसीबी ने तमाम कागजातों को अपने कब्जे में लिया एवं जांच पड़ताल कर रही है। समाचार लिखे जाने तक छापेमारी जारी है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि छापेमारी अन्य ठिकानों पर भी की जाएगी। इसकी तैयारी चल रही है।

गौरतलब है कि गुरुवार को ही मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश दिए थे। अभी निरंजन कुमार से जुड़े फाइलों को खंगाला जा रहा है। गौरतलब है निरंजन कुमार के खिलाफ 170 करोड़ रूपये के अनियमितता को लेकर पीइ दर्ज की गई थी। आरोप है के निरंजन कुमार अपने पहुंच के बल पर जरेडा के निदेशक बने। अवैध तरीके से वेतन निकासी की। विदेश गए , टेंडर में मनमानी की, निविदा की शर्तों में बदलाव किया।

सीएम ने दिया था जांच का आदेश

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने निरंजन कुमार (इंडियन पोस्ट एंड टीसी एकाउंट्स एंड फाइनांस सर्विस) के खिलाफ गंभीर आरोपों की जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) से कराने का आदेश दिया है। उनके खिलाफ अपने पुराने परिचयों का दुरुपयोग कर जेयूएसएनएल तथा जरेडा का निदेशक बनने, उस पद हेतु कोई भी तकनीकी अहर्ताएं पूरी नहीं करने, 27 जनवरी 2019 को प्रतिनियुक्ति अवधि समाप्त हो जाने के उपरांत इनकी प्रतिनियुक्ति अवधि का विस्तार केंद्र सरकार अथवा डीओपीटी में अभी तक प्राप्त नहीं होने की शिकायत मिली है।

अवैध रुप से वेतन निकासी समेत कई और आरोप

निरंजन कुमार के खिलाफ इस अवधि में अपने वेतन की निकासी अवैध रुप से करने एवं सरकार के विभिन्न खातों से लगभग 170 करोड़ का भुगतान करने एवं सपरिवार विदेश भ्रमण करने, अपनी संपत्ति विवरण में अपनी पत्नी के नाम से अलग कंपनी बनाने जैसे गंभीर आरोप लगे है

राँची:- 170 करोड़ के घोटाले के मामले में जरेडा के निदेशक के खिलाफ बड़ा शिकंजा जा रहा है। डोरंडा स्थित जरेडा कार्यालय में शुक्रवार को एसीबी का छापेमारी की। इस दरमियान एसीबी ने तमाम कागजातों को अपने कब्जे में लिया एवं जांच पड़ताल कर रही है। समाचार लिखे जाने तक छापेमारी जारी है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि छापेमारी अन्य ठिकानों पर भी की जाएगी। इसकी तैयारी चल रही है।

गौरतलब है कि गुरुवार को ही मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश दिए थे। अभी निरंजन कुमार से जुड़े फाइलों को खंगाला जा रहा है। गौरतलब है निरंजन कुमार के खिलाफ 170 करोड़ रूपये के अनियमितता को लेकर पीइ दर्ज की गई थी। आरोप है के निरंजन कुमार अपने पहुंच के बल पर जरेडा के निदेशक बने। अवैध तरीके से वेतन निकासी की। विदेश गए , टेंडर में मनमानी की, निविदा की शर्तों में बदलाव किया।

सीएम ने दिया था जांच का आदेश

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने निरंजन कुमार (इंडियन पोस्ट एंड टीसी एकाउंट्स एंड फाइनांस सर्विस) के खिलाफ गंभीर आरोपों की जांच भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) से कराने का आदेश दिया है। उनके खिलाफ अपने पुराने परिचयों का दुरुपयोग कर जेयूएसएनएल तथा जरेडा का निदेशक बनने, उस पद हेतु कोई भी तकनीकी अहर्ताएं पूरी नहीं करने, 27 जनवरी 2019 को प्रतिनियुक्ति अवधि समाप्त हो जाने के उपरांत इनकी प्रतिनियुक्ति अवधि का विस्तार केंद्र सरकार अथवा डीओपीटी में अभी तक प्राप्त नहीं होने की शिकायत मिली है।

अवैध रुप से वेतन निकासी समेत कई और आरोप

निरंजन कुमार के खिलाफ इस अवधि में अपने वेतन की निकासी अवैध रुप से करने एवं सरकार के विभिन्न खातों से लगभग 170 करोड़ का भुगतान करने एवं सपरिवार विदेश भ्रमण करने, अपनी संपत्ति विवरण में अपनी पत्नी के नाम से अलग कंपनी बनाने जैसे गंभीर आरोप लगे है

Recent Posts

%d bloggers like this: