November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लालू लंगर में गरीबों को परोसा जा रहा है मछली-चिकेन-चावल

प्रतिदिन 500 से 700 गरीबों को मिल रहा है भोजन

राँची:- कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण पर अंकुश को लेकर लागू राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच दैनिक वेतनभोगी मजदूरों और रिक्शा चालक, ठेला-खोमचे वालों की मुश्किलें बढ़ गयी है। ऐसे में कई संगठन जरुरतमंदों की मदद के लिए आगे है, विभिन्न राजनीतिक दलों और संगठनों की ओर से शिविर लगाकर भोजन का इंतजाम किया जा रहा है। इसी क्रम में राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद के निर्देश पर पार्टी की ओर से रांची के रिम्स परिसर के निकट प्रतिदिन लालू लंगर लगाकर 500 से 700 लोगों को दिन और रात का भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है।
राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद रिम्स के ही पेइंग वार्ड में पिछले कई महीनों से भर्त्ती है। इस दौरान रिम्स में इलाज कराने आये गरीबों और उनके परिजनों तथा फुटपाथ पर रहने वाले अन्य गरीबों के लिए राजद कार्यकर्त्ताओं की प्रतिदिन लालू लंगर का आयोजन कर दो शाम के भोजन में मछली- चिकन-चावल उपलब्ध कराया जा रहा है।
राजद के प्रदेश अध्यक्ष अभय कुमार सिंह ने बताया कि तीन अप्रैल से ये लंगर चल रहा है। जिसके लिए झारखंड आरजेडी के नेता और कार्यकर्ता सारा इंतजाम करते हैं। लालू लंगर में गरीबों को मछली-चिकेन से लेकर कई स्पेशल डिशेज परोसे जा रहे है। उन्होंने बताया कि लोग एक ही तरह के भोजन उब न जाये, इसलिए लंगर का मेन्यू हर दिन बदलता है. यहां दाल, भात, सब्जी, पापड़, आचार के साथ-साथ पुड़ी-खीर, हलुआ, मछली, चिकेन और अंडा भी लोगों को खिलाया जाता है. लंगर के खाने के क्वालिटी पर राजद अध्यक्ष खुद नजर रखते हैं, इसके लिए वे रोज अपने सेवक को लंगर भेजकर खाना टेस्ट करवाते हैं।
प्रदेश युवा राजद अध्यक्ष रंजन कुमार यादव कहते हैं कि लालू यादव के आह्वान पर राजद के नेताओं के सहयोग से 50 दिनों से रिम्स में लालू लंगर चल रहा है, यहां रोजाना 500 से 700 जरूरतमंदों को खाना मिलता है, आगे भी यह जारी रहेगा। पेट भरने के बाद इन गरीबों के मुंह से लालू के लिए दुआएं निकलती हैं।
गौरतलब है कि चारा घोटाले के चार मामलों में सजायाफ्ता राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा से रिम्स स्थित पेइंग वार्ड में शिफ्ट किया गया है और वे पिछले कई महीनों से इस अस्पताल में इलाजरत है। लालू प्रसाद करीब एक दर्जन गंभीर बीमारियों से पीड़ित बताये गये है।

Recent Posts

%d bloggers like this: