November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बीमार पिता को साईकिल पर बैठाकर दिल्ली से लेकर गांव लौटने वाली ज्योति की पढ़ाई का खर्च उठाने की पेशकश

पांच हजार रुपये की सम्मान राशि खाते में ट्रांसफर

राँची:- लॉकडाउन में दिल्ली से अपने बीमार पिता को साईकिल पर बैठाकर बिहार के दरभंगा जिले के कमतौल थाना क्षेत्र अंतर्गत टेकटार पंचायत के सिरहुल्ली गांव लाने वाली ज्योति कुमारी की पढ़ाई का खर्च उठाने की पेशकश की गयी है। रांची के पंडरा स्थित काला झंडा शनि मंदिर संस्था की ओर से 13वर्षीय ज्योति कुमारी के इस हिम्मत पूर्ण कार्य के लिए उन्हें सम्मानित करते हुये पांच हजार रुपए की राशि उनके भारतीय स्टेट बैंक के खाते में एनईएफटी द्वारा भेज दिया गया है। संस्था के सदस्य और शनि उपासक कैलाश साहू ने कहा कि ज्योति कुमारी को भविष्य में भी काला झंडा शनि मंदिर जरूरत पर आर्थिक सहयोग करता रहेगा और अगर ज्योति कुमारी आगे अपनी पढ़ाई करना चाहेगी तो उसमें भी उसे सहयोग किया जायेगा।
कैलाश साहू ने बताया कि 13वर्षीय ज्योति कुमारी ने पितृभक्ति का एक अनुपम उदाहरण पेश किया और बीमार पिता मोहर पासवान को लॉकडाउन में भूख से बचाने के लिए दिल्ली से गांव ले आयी। उसने यह उसने यह यात्रा सात दिनों में पूरी की। उन्होंने कहा कि ज्योति कुमारी के हिम्मत व जज्बे को आज दुनिया सलाम कर रही है।
गौरतलब है कि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से लॉकडाउन के बीच काम बंद हो गया और दिल्ली में रोजी-रोटी और बीमारी के संकट के बीच ज्योति ने अपने पिता को लेकर गांव लौटने का निर्णय लिया गया। प्रारंभ में एक ट्रक वाले से बात की, तो उसने दो लोगों को दरभंगा छोड़ने के लिए छह हजार रुपये की मांग की, इसके बाद बेटी ने साईकिल से ही पिता को घर ले जाने का फैसला लिया। पिता ने काफी मना किया, पर बेटी नहीं मानी और इन्होंने बेटी की जिद के आगे घुटने टेक दिये। इसके बाद दोनों साईकिल से निकल पड़े। आठ दिनों की लंबी यात्रा तय कर दोनों घर पहुंच गये।

Recent Posts

%d bloggers like this: