November 23, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लॉक डाउन के दरम्यान बाहर फसें 17 लाख बिहारियों को लाना सम्भव नहीं : बिहार सरकार

पटना :- इस लॉकडाउन की वजह से 17 लाख से ज्यादा बिहारी देश के अलग-अलग जगहों पर फसें हुए हैं। सभी को भोजन, राशन व तत्काल एक-एक हजार रुपये की मदद पहुंचाने का काम लगातार जारी है। बिहार सरकार ने यह स्टेटस रिपोर्ट गुरुवार को पटना हाईकोर्ट को दी है। इसमें राज्य सरकार ने स्पष्ट किया है कि लॉकडाउन की अवधि में कोटा या देश के किसी भी हिस्से में फंसे बिहारियों को वापस नहीं लाया जा सकता है। रिपोर्ट हाईकोर्ट के महानिबंधक कार्यालय को सौंपी गई है।

आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने महानिबंधक को पत्र के जरिये यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा है कि लॉकडाउन कानून व केंद्र सरकार की गाइडलाइन का सख्त अनुपालन राज्य सरकार कर रही है, जिसके तहत फंसे हुए किसी नागरिक को भी बिहार वापस नहीं लाया जा सकता है। हालांकि बाहर फंसे लोगों को समुचित भोजन व राशन के साथ प्रत्येक व्यक्ति को एक-एक हजार रुपये की विशेष सहायता देने एवं उन सभी की शिकायतों को सुनने के लिए टेलीफोन नंबर, हेल्पलाइन नंबर व मोबाइल एप तक भेजे जा रहे हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: