October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पटना में डूबते-डूबते बचे पूर्व मंत्री रामकृपाल यादव, जुगाड़ की नाव में फोटो शूट कराते हुआ हादसा

पटना :- पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं सांसद रामकृपाल यादव बुधवार की रात दरधा नदी में डूबते-डूबते बचे। घटना तब हुई जब वे ‘जुगाड़ की नाव’ में चढ़ रहे थे। बताया जाता है कि नाव में फोटो शूट कराने के क्रम में अचानक उनका संतुलन बिगड़ा और वे 12 फीट की गहराई में जा गिरे। ग्रामीणों ने खींचकर उन्‍हें बचा लिया

सांसद ने कहा कि वे तैरना भी नहीं जानते तो डूब जाते। संसदीय क्षेत्र का भ्रमण करने गए थे। उन्‍होंने बताया कि अनुमंडल पदाधिकारी भ्रमण की सूचना देने के बावजूद नहीं आए। प्रशासन ने भी नाव उपलब्ध नहीं कराया। उन्‍होंने बताया कि दर्जनों गांवों के घर-घर में तीन-चार फीट पानी लगा है। जनता पीड़ा में है। जिलाधिकारी फोन तक नहीं उठा रहे हैं।

बताया जाता है कि बाढ़ पीडि़तों के बीच दवा वितरण के लिए पाटलिपुत्र के बीजेपी सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव गए थे। वे अपने समर्थकों के साथ टायर से बनी ‘जुगाड़ नाव’ पर चढ़ रहे थे। इस बीच उनका संतुलन बिगड़ गया और वे छपाक से नदी में गिर पड़े। रामकृपाल यादव के गिरते ही वहां अफरातफरी मच गई। समर्थकों ने उन्‍हें निकाला। इसके बाद लोगों की जान में जान आई। बताया जाता है कि समर्थकों के साथ ही वे वहां से लौट गए।

विदित हो कि पिछले बीते दिनों की बारिश में पटना झील में तब्‍दील हो गया है। नदियां भी उफान पर हैं। बताया जाता है कि गंगा के साथ ही पुनपुन नदी भी उफान पर है। पुनपुन नदी का जलस्‍तर 1975 के रिकॉर्ड के बिल्‍कुल नजदीक पहुंच गया है। नदी का पानी निचले इलाकाें में फैल गया है। दरधा नदी में भी उफान है। दरधा नदी के पानी भी कई इलाकों में फैल गया है। इससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

Recent Posts

%d bloggers like this: