October 23, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

शिक्षकों के आंदोलन से डरी नीतीश सरकार, 5 सितंबर के प्रदर्शन को रोकने के लिए जारी किया लेटर

पटना:- बिहार में शिक्षक और सरकार एक बार फिर आमने-सामने हैं। पांच सितंबर यानि शिक्षक दिवस के दिन ही शिक्षकों के आंदोलन के एलान के बाद शिक्षा विभाग हरकत में आ गया है और शिक्षक दिवस के दिन राज्यभर के स्कूलों को खोलने का निर्देश दिया गया है। इसको लेकर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव आरके महाजन सभी डीईओ, डीपीओ, बीईओ और एचएम को पत्र जारी किया है और निर्देश दिया है कि 5 सितंबर को सभी शिक्षकों की उपस्थिति शत प्रतिशत अनिवार्य है।

ऐसा क्या लिखा है पत्र में

इस पत्र में स्पष्ट तौर पर लिखा है कि प्रारंभिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक स्कूलों में ही शिक्षक दिवस मनाया जाएगा। अपर मुख्य सचिव ने साफ कहा है कि 5 सितंबर को शिक्षकों का अवकाश स्वीकृत नहीं होगा और जो शिक्षक अनुपस्थित रहेंगे उन पर कानूनी कार्रवाई होगी। बताते चलें कि समान वेतनमान समेत अन्य मांगों को लेकर शिक्षक संघर्ष समिति ने 5 सितंबर को राज्यभर के स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया था और हड़ताल का ऐलान किया था जिसके बाद सरकार हरकत में आई है।

शिक्षकों का दावा

शिक्षक संघ का दावा है कि शिक्षक दिवस के अवसर पर पटना के गांधी मैदान में लाखों शिक्षक अपनी आवाज बुलंद करेंगे और जरूरत पड़ी तो गिरफ्तारी भी देंगे। सरकार की इस चिट्ठी जारी होने के बाद ये देखना होगा कि शिक्षक सरकार की मानते हैं या फिर शिक्षक संघ की। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में भी समान काम को लेकर समान वेतन की मांग वाली शिक्षकों की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: