October 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

फरार विधायक अनंत सिंह ने जारी किया वीडियो, बोले- मुझे गिरफ्तार होने का डर नहीं है

पटना :- प्रतिबंधित एके 47 राइफल और दो हैंड ग्रेनेड की बरामदगी के बाद से फरार चल रहे मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह पहली बार वीडियो जारी कर सामने आए हैं। इस वीडियो में अनंत सिंह ने कहा है कि मुझे गिरफ्तार होने का डर नहीं है। आपको बता दें कि विधायक अनंत सिंह के खिलाफ सोमवार को गिरफ्तारी वारंट निकल सकता है। बाढ़ थाने की पुलिस वारंट लेने के बाद आगे की कार्रवाई करेगी।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, अनंत सिंह ने कहा है कि मैं अगले 3-4 दिनों में आत्मसमर्पण करूंगा। मैं पिछले 14 वर्षों से उस घर में नहीं गया तो एके -47 रखने का कोई सवाल ही नहीं है।

पुलिस अफसरों के मुताबिक, वारंट के बाद भी अगर विधायक ने सरेंडर नहीं किया तो उनके खिलाफ इश्तेहार फिर कुर्की की कार्रवाई की जाएगी। इधर, पुलिस ने विधायक के विदेश जाने के कयासों को देखते हुए उन पर लुक आउट नोटिस जारी करने की तैयारी कर ली है। इसकी प्रकिया रविवार को पूरी की गई। सोमवार तक पुलिस अपने आवेदन को संबंधित विभाग में दे देगी। चूंकि विधायक पर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम कानून (यूएपीए एक्ट) के तहत मामला दर्ज है, लिहाजा लुक आउट नोटिस भी तुरंत जारी कर दिया जाएगा।

पंडारक थाने की पुलिस को विधायक के खासमखास लल्लू मुखिया के घर की कुर्की-जब्ती का आदेश सोमवार को मिल सकता है। कुछ कारणों से अब तक लल्लू मुखिया व उसके भाई के घर की कुर्की का आदेश नहीं मिल सका था। गौरतलब है कि इस मामले में लल्लू अब तक फरार है।

शनिवार की रात विधायक अनंत सिंह के घर में छापेमारी के दौरान एक डायरी पुलिस के हाथ लगी। उस वक्त पुलिस अफसरों ने उस पर ध्यान नहीं दिया और साथ ले आयी, लेकिन रविवार को जब डायरी की पड़ताल की गयी तो उसमें छिपे कई राज से पर्दा उठ गया।

पुलिस टीम ने इतनी बारीकी से विधायक के घर की तलाशी ली कि बिस्तर के नीचे रखी डायरी भी हाथ लग गयी। उसमें विधायक के कई गुर्गों का नाम है। वैसे लोगों का नाम भी है जिनसे हमेशा विधायक बात किया करते थे। कोड में हथियारों के नाम भी लिखे हैं। तकरीबन 15 हथियारों के नाम डायरी में है। सूत्रों की मानें तो डायरी में कई नंबर भी हैं, जो जांच टीम के लिए तुरूप का पत्ता साबित हो सकते हैं। इसी डायरी पर लिखे नंबरों को देखकर विधायक अपने करीबियों और राजदारों को फोन लगाया करते थे। खबर यह भी है कि बरामद डायरी को लिखने का काम कोई और करता था। जो चीजें विधायक को याद नहीं रहती थीं उसे वे इसी डायरी में लिखवा दिया करते थे। हालांकि पटना पुलिस अभी इस पूरे मामले को बेहद गोपनीय रख रही है। जांच की जानकारी सिर्फ चुनिंदा अफसरों को है।

सूत्रों की मानें तो विधायक के घर में कई तलवार रखी थीं। दिन के वक्त उन तलवारों को हटा दिया गया था। उसी में से एक तलवार विधायक के घर छूटा रह गया, जिसे पटना पुलिस की टीम ने शनिवार की देर रात बरामद कर लिया।

Recent Posts

%d bloggers like this: