October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

झारखंड महिला सियासत का अधिवेशन सम्पन्न

*विधानसभा के 17 सीटों पर झामसि और संयुक्त मोर्चा के प्रत्याशियों के नामों की घोषणा

* नशा मुक्त और भ्रष्टाचार मुक्त झारखंड निर्माण का लक्ष्य

* झामसि के संयोजक कैप्टन सुधीर सिन्हा बोले, * संयुक्त मोर्चा की सरकार बनी तो होगा शिक्षा और स्वास्थ्य निशुल्क

रांची:- झारखंड विधानसभा के चुनाव में इस बार झारखंड महिला सियासत के बैनर तले संयुक्त मोर्चा के तत्वावधान में सभी 81 सीटों पर महिला प्रत्याशी उतारे जाएंगे। इस संबंध में रविवार को राजधानी के गौस्सनर थियोलाॅजिकल सोसायटी के सभागार में आयोजित झामसि के अधिवेशन में निर्णय लिया गया। झामसि के संयोजक कैप्टन सुधीर सिन्हा ने कहा कि महिलाओं को संविधान सम्मत अधिकार देने में तकरीबन सभी राजनीतिक दल कोताही बरतते रहे हैं। महिलाओं को समुचित सम्मान नहीं मिल रहा है, जबकि महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधा से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं को उनका वाजिब हक दिलाने के उद्देश्य से झारखंड महिला सियासत का गठन किया गया है। इसके बैनर तले संयुक्त मोर्चा में विभिन्न राजनीतिक दल शामिल हो रहे हैं। इसके माध्यम से अबकी बार महिला सरकार के नारे के साथ झारखंड में महिला के नेतृत्व में सरकार बनाने की पहल प्रारंभ की गई है। अधिवेशन में जाने-माने समाजसेवी और संयुक्त मोर्चा के प्रदेश प्रभारी कुलदीप टोप्पो ने कहा कि अलग राज्य गठन के बाद झारखंड का अपेक्षित विकास नहीं हो सका। अब तक किसी भी राजनीतिक दल ने झारखंड के विकास का ठोस खाका तैयार नहीं किया। जिससे सूबे में विकास की गति तेज हो सके। राजनीतिक दल सिर्फ अपनी महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति के लिए ही अब तक सक्रिय रहे। जनहित के कार्यों को तवज्जो नहीं दिया गया। जिससे विकास के मामले में झारखंड आज भी अन्य राज्यों की तुलना में काफी पीछे है।
अधिवेशन में झामसि की प्रवक्ता ज्योति भेंगरा ने कहा कि महिला सियासत के बैनर तले सही मायने में महिला सशक्तिकरण के नारे को धरातल पर उतारा जाएगा। वहीं, संगठन की कोषाध्यक्ष मार्सेला खलखो ने कहा कि हमें किसी से बैर नहीं, लेकिन महिलाओं की उपेक्षा करने वाले दलों की अबकी बार खैर नहीं। अधिवेशन में झामसि का चुनावी घोषणा पत्र भी जारी किया गया, जिसमें नशा मुक्त और भ्रष्टाचार मुक्त झारखंड बनाने, शिक्षा व स्वास्थ्य निशुल्क करने, अनुबंध पर कार्यरत और मानदेय प्राप्त करने वाले कर्मियों को नियमित करने, किसानों को खेती के लिए बीज और बिजली मुफ्त मुहैया कराने, आंगनबाड़ी केंद्रों और जीर्ण-शीर्ण अवस्था में पड़े सरकारी स्कूलों का अविलंब जीर्णोद्धार करने, रोजगार सृजन और बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने, शहरी पेयजल आपूर्ति में सुधार और गांवों तक पेयजल आपूर्ति करने, सूबे के सर्वांगीण विकास से हर नागरिक के चेहरे पर खुशियां लाने सहित विकास के अन्य पैमाने पर राज्य को बेहतर बनाने का संकल्प लिया गया। इस अवसर पर विभिन्न राजनीतिक दलों ने संयुक्त मोर्चा में शामिल होने की घोषणा की। इसमें राष्ट्रीय राष्ट्रवादी पार्टी नागरिक अधिकार पार्टी, वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल, पिछड़ा समाजवादी यूनाइटेड पार्टी, राष्ट्रीय रिपब्लिकन पार्टी के नामों की घोषणा की गई।
अधिवेशन में झारखंड के 17 विधानसभा क्षेत्रों से झामसि के प्रत्याशियों के नाम की भी घोषणा की गई। इसमें हटिया विधानसभा क्षेत्र से उर्मिला यादव, रांची से सुशीला शाहदेव, कांके से काजल कुमारी पासवान, खिजरी से उमा देवी मुंडा, सिमडेगा से फ्लोरा मिंज, खूंटी से अर्पना बारला, लोहरदगा से उर्मिला तिग्गा, बरहेट से मरनिशा हांसदा, मनिका से सोनिया तिग्गा, धनबाद से लक्ष्मी देवी, मधुपुर से अरुणिमा सिन्हा, महगामा से आशा मकाड़े, पाकुड़ से आसमां आरा खातून, बहरागोड़ा से सविता कैबार्ते, मनोहरपुर से सुशीला टोप्पो,मांडर से प्रेमलता तिग्गा और बड़कागांव से पूनम सिंह शामिल हैं। अधिवेशन में काफी संख्या में विभिन्न सामाजिक और राजनीतिक संगठनों के प्रतिनिधि गण मौजूद थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: