October 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

जानकीनगर के शिवशिष्यों ने पर्यावरण के संरक्षण हेतु निकाली विशाल जन जागरण रैली व लगाए 4000 ( चार हज़ार ) वृक्ष

पूर्णिया :- शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द फाउंडेशन, राँची के तत्वावधान में दीदी नीलम आनन्द जी की 67वीं जन्म दिवस के अवसर पर पूरे भारत एवं भारत देश के बाहर 21 जुलाई 2019 से 27 जुलाई 2019 तक वृक्षारोपण सप्ताह का कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसी कार्यक्रम के तहत पूर्णिया जिला अंतर्गत बनमनखी अनुमंडल के जानकी नगर में शुक्रवार को हज़ारो की संख्या में शिवशिष्य जमा होकर वृक्षारोपण एवम जन जागरण हेतु विशाल रैली निकाल कर नगर भ्रमण किया।एवम जन मानस को वृक्ष लगाने हेतु प्रेरित किया ।साथ ही लगभग 4000 पेड़ भी लगाए ।शिवशिष्यों की रैली की हर ओर चर्चा हो रही है । “पूरा नगर वृक्ष है धरा के भूषण करते है दूर प्रदूषण” आदि नारों से गुंजायमान हो रहा था। इतनी संख्या में लोगों का जमा होना व पर्यावरण के प्रति लोगो को सचेत करने का तरीका अपने आप में अनूठा है।

[wpvideo OvDmd7fn class=”data-temp-aztec-video” data-temp-aztec-id=”a6aebe09-8fc2-4699-a520-2d1317c3f2f8″]

शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द फाउंडेशन के मुख्य सलाहकार अर्चित आनन्द ने कहा कि वर्ष 2030 तक विश्व की जनसंख्या के 8.3 अरब से अधिक हो जाने का अनुमान है, जिसके कारण उस समय भोजन एवं ऊर्जा की मांग 50ः अधिक तथा स्वच्छ जल की मांग 30ः अधिक हो जाएगी। भोजन, ऊर्जा एवं जल की इस बढ़ी हुई मांग के फलस्वरुप उत्पन्न संकट के दुष्परिणाम भी भयंकर हो सकते हैं। इस वर्ष गर्मी में सैकड़ों लोगों ने केवल लू लगने की वजह से अपनी जान गवाई है। आप हम जानते हैं कि प्रचंड गर्मी की वजह से बिहार के कई जिलों में सरकार को धारा 144 भी लगानी पड़ी थी। हमें वृक्षों को लगाना चाहिए साथ ही उनको बचाना चाहिए।
वृक्षारोपण के कार्यक्रमों को प्रोत्साहन देने के लिए लोगों को वृक्षों से होने वाले लाभ से अवगत कराकर पेड़ लगाने के लिए प्रेरित करना होगा। शिक्षा के पाठ्यक्रम में वृक्षारोपण को भी पर्याप्त स्थान देना होगा एवं पेड़ लगाने वाले लोगों को प्रोत्साहित करना होगा। यदि हम चाहते हैं कि प्रदूषण कम हो एवं जल की प्रचुर मात्रा में उपलब्धता हो तो हमें पर्यावरण की सुरक्षा के साथ सामंजस्य रखते हुए संतुलित विकास की ओर अग्रसर होना होगा, इसके लिए हमें अनिवार्य रूप से वृक्षारोपण का सहारा लेना होगा। आज हम सबों को ‘एके जॉन्स’ की तरह वृक्षारोपण का संकल्प लेने की आवश्यकता है जो कहते थे “मैं एक पेड़ लगा रहा हूँ, जो मुझे अपनी गहरी जड़ों से सामर्थ्य एकत्र करने की शिक्षा देता है”।

पिछले वर्ष हम सबने मिलकर लगभग पाँच लाख वृक्ष लगाया था और निरंतर इस दिशा में हम काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष दीदी नीलम आनन्द जी के 67वें जन्म दिवस के अवसर पर 21 जुलाई से 27 जुलाई तक वृक्षारोपण सप्ताह के रूप में मनाने का निर्णय शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द फाउंडेशन, राँची के द्वारा लिया गया है। शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द फाउंडेशन ने पुरे देश/विदेश में बीस लाख पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस मुद्दे पर शिव शिष्य हरीन्द्रानंद फाउंडेशन पिछले कई सालों से लगातार आवाज़ उठा रहा है और इस दिशा में प्रयासरत भी है। शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द फाउंडेशन के बैनर तले पर्यावरण सुरक्षा के निमित्त कई कार्यक्रम जैसे –
‘‘साँसें हो रही कम, आओं वृक्ष लगायें हम’’, ‘‘वृक्ष है धरा के भूषण, करते दूर प्रदुषण’’ तथा ‘‘ये हैं हमारी साँसों के रक्षक, आओ बनें इनके संरक्षक’’ पूरे देश में आयोजित किये जाते रहे हैं।

इस आयोजन को सफल बनाने में पूर्णिया के श्री अशेष कुमार आशिष, अमिन पासवान, व बनमनखी से अनिलजी, के अलावे लोकेश राय दिनेश पोद्दार मनोज कु0 गुप्ता नकुल जी शम्भू जी बिट्टू जी बिनोद जीअमित जी सुनीलजी शुशील जी विजय पिन्टूजी कृष्णा सुभद्रा मंजू ज्योति अनिता नीतू मीनाक्षी निभा पूजा आदि ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Recent Posts

%d bloggers like this: