October 23, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पुणे हादसा में कटिहार के 15 और छपरा के 2 लोगों ने गंवायी अपनी जान, मुख्यमंत्री नीतीश ने की आर्थिक मदद की घोषणा

किशनगंज : – महाराष्‍ट्र के पुणे के कोंढवा इलाके में एक सोसाइटी की दीवार झुग्गियों पर गिरने से मारे गये मजदूरों में 17 मजदूर बिहार के कटिहार और मुजफ्फरपुर जिले के हैं। शुक्रवार की मध्य रात्रि करीब डेढ़ बजे यह दुर्घटना हुई। मारे गये मजदूरों में 15 कटिहार और दो छपरा के रहने वाले हैं। मजदूरों के मौत के खबर से गांव में कोहराम मच गया है। वहीं, बघार के 11 मजदूरों की मौत से गांव में सन्नाटा पसर गया है। परिजनों की आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। प्राप्त खबरों के अनुसार महाराष्ट्र के पुणे स्थित कोंढवा जिले में बारिश एवं भू-स्खलन से दीवार गिरने के कारण कटिहार के 15 मजदूरों की मौत दब कर हो गयी है। जबकि, एक महिला पूजा देवी की स्थिति चिंताजनक है। भू-स्खलन से कुल 17 लोगों के मरने की बात सामने आ रही है। इनमें 15 कटिहार के और दो छपरा के मजदूर हैं। जानकार सूत्रों के हवाले से पता चला है कि सभी मजदूर एक निजी कंस्ट्रक्शन कंपनी में कार्यरत थे। उस निजी कंपनी की सार्वजनिक कार पार्किंग की दीवार ढहने के कारण सभी मजदूरों की मौत दब कर हो गयी। कई मजदूरों के अब भी वहां दबे होने की आशंका जताई जा रही है। राहत और बचाव कार्य जारी है। हादसे में जिन मजदूरों की मौत हुई हैं, उनमें कटिहार जिले के बलरामपुर थाना क्षेत्र के बघार गांव के 11, दतियां गांव के एक तथा बलिया बेलोन थाना क्षेत्र के कालीगंज गांव का एक मजदूर शामिल हैं। मृतकों की संख्या और भी बढ़ने की आशंका है। फिलहाल मलबा हटाने का काम जोर-शोर से चल रहा है। कटिहार के स्थानीय सांसद दुलालचंद गोस्वामी ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि इस दुःखद घटना से हमलोग मर्माहत हैं। हम सभी पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में दिल्ली और पटना सरकार के उच्च अधिकारियों तथा श्रम विभाग के अधिकारियों से भी लगातार बातचीत हो रही है। सभी मृत मजदूरों के शव को बिहार और कटिहार लाने के लिए बातचीत की जा रही है। सारण के भी दो युवकों की इस घटना में मरने की खबर है ।जानकारी के अनुसार, काम से लौटने के बाद एक ही कमरे में करीब दो दर्जन से अधिक लोग सो रहे थे, तभी आधी रात से शुरू हुई मूसलाधार बारिश और हवा की तेज थपेड़ों के कारण मजदूरों को रहने के लिए बनाइ गई कमरे की ऊंची दीवार गिर पड़ी। इसमें 17 लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। हादसे में सारण जिले के दरियापुर गांव निवासी स्व राजकिशोर सिंह के 35 वर्षीय पुत्र सुनील सिंह तथा बनकेरवां गांव निवासी राम नरेश सहनी का 37 वर्षिय पुत्र लक्ष्मीकांत सहनी शामिल हैं। मरने वाले दोनों युवक दोनों परिवारों में कमानेवाला इकलौता इंसान होने के कारण परिवार पर दुखों का पहाड़ टुट गया है। इस दुखद घटना से दोनों परिवार सहित गांव में शोक की लहर दौड़ गयी है। पुणे हादसे में मजदूरों की मौत पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मृतक के परिजनों को दो-दो लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है साथ ही उन्होंने घायल मजदूरों को 50,000 रुपये के मुआवजे की घोषणा की है

Recent Posts

%d bloggers like this: