October 20, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

रांची : विधानसभा का नया भवन आठ अगस्त के पहले होगा हैंडओवर


रांची : झारखंड विधानसभा की नयी बिल्डिंग बन कर तैयार हो गयी है। फिनिशिंग का काम चल रहा है। भवन निर्माण विभाग के अधिकारी हर हाल में आठ अगस्त के पहले काम पूरा कर नयी बिल्डिंग सरकार को हैंडओवर करने का दावा कर रहे हैं। वहीं, रघुवर सरकार भी विधानसभा का माॅनूसन सत्र नयी बिल्डिंग में आयोजित करना चाहती है। मुख्यमंत्री रघुवर दास पूर्व में इसके लिए निर्देश दे चुके हैं। विधानसभा के नये भवन में 150 विधायकों के बैठने की व्यवस्था की गयी है। इसके अलावा 400 लोंगों की क्षमता वाला एक कांफ्रेंस हाॅल भी है। नये भवन को तीन हिस्से सेंट्रल, ईस्ट और वेस्ट विंग में बांटा गया है। सेंट्रल विंग में विधानसभा सदन होगा। ईस्ट और वेस्ट विंग पर विधानसभा के पदाधिकारियों-कर्मचारियों के लिए कार्यालय होंगे। तीसरे तल्ले पर कैंटीन आदि की सुविधाएं रहेंगी। ग्राउंड फ्लोर में कांफ्रेंस हॉल व सभी विधायकों और कर्मचारियों के लिए पार्किंग की व्यवस्था होगी। नया भवन जी प्लस थ्री है। विधानसभा के चारों तल्ले का डिजाइन एक जैसा ही है। सेंट्रल विंग विधानसभा का मुख्य भवन है। इसमें 150 सीटों का सदन, 400 सीट का कांफ्रेंस हॉल व सुरक्षाकर्मियों के विश्राम कक्ष से लेकर गार्ड रूम भी बनाये गये हैं। सेंट्रल विंग के बीच में सदन है। सदन में आसन और रिर्पोटियर डेस्क है। उसके सामने सात लाइन में गोलाकार रूप से विधायकों का सीटिंग अरेंजमेंट किया जा रहा है। सेंट्रल विंग में स्पीकर चेंबर, सीएम चेंबर, डिप्टी स्पीकर चेंबर, चीफ सेक्रेटरी ऑफिस, असेंबली सेक्रेटरी चेंबर, एमएलए लॉबी, प्रेस गैलरी, मीडिया लॉबी, ऑफिसर गैलरी, वीआइपी विजिटर्स गैलरी, विजिटर्स गैलरी, मीडिया गैलरी, लाइब्रेरी और कैंटीन होंगे। सदन के दाहिनी ओर ईस्ट विंग है। इसमें मंत्री कार्यालय, सेक्रेटरी, ज्वाइंट सेक्रेटरी व एडिशनल सेक्रेटरी के चेंबर हैं। वहीं, सदन के बायीं ओर में वेस्ट विंग है। इस विंग में विपक्ष के नेता का चेंबर, स्वीकृत राजनीति दल के प्रतिनिधियों का चेंबर और विधानसभा की विभिन्न कमेटियों का कार्यालय है। सभी चेंबर से अटैच टॉयलेट, ओपन टेरिस और पेंट्री की व्यवस्था की गयी है। भवन के दूसरे तल्ले पर भी इसी तरह बैठने की व्यवस्था होगी। इसमें प्रेस- मीडिया के लिए गैलरी, विश्रामगृह और अधिकारियों और कर्मचारियों का कार्यालय है। तीसरे तल्ले पर स्टोर रूम, लाइब्रेरी, कंप्यूटर सेक्शन, कांफ्रेंस हॉल है। गुंबद की फिनिशिंग में लग रहा है समय नये भवन में विशालकाय गुंबद बनाया गया है। गुंबद की फिनिशिंग का काम चल रहा है। गुंबद के अंदरूनी हिस्से पर कलाकारी की जा रही है। उसमें विशेष रूप से मंगायी गयी सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। पूर्व में कारीगरों ने जून में काम पूरा करने की बात कही थी। लेकिन, काम पूरा नहीं किया जा सका है। गुंबद का काम पूरा होने के बाद मुख्य हॉल में फर्श की ढलाई की जानी है। भविष्य को देखते हुए की गयी है प्लानिंग विधानसभा का नया भवन भविष्य को ध्यान में रख कर तैयार किया गया है। भविष्य में झारखंड विधानसभा की सीटों के बढ़ने पर विधायकों को सदन में बैठने के लिए अलग से कोई व्यवस्था नहीं करनी होगी। वर्तमान में विधानसभा की 81 सीटें हैं। नये भवन में विधायकों की सीटों को बढ़ा कर लगभग दोगुना कर दिया गया है। नये भवन की कुल लागत 365 करोड़ रुपये है।यह 57,220 वर्गमीटर क्षेत्र में बनाया गया है। शिलान्यास 12 जून 2015 में हुआ था। हालांकि, उसके तुरंत बाद काम शुरू नहीं किया जा सका था। पहले तीन वर्ष में नये भवन पर करीब 150 करोड़ रुपये ही खर्च किये जा सके थे। लेकिन, पिछले एक साल में ही 150 करोड़ रुपये खर्च कर काफी तेजी से काम किया गया है। सरकार प्रयास कर रही है कि वर्तमान विधानसभा का अंतिम सत्र नये विधानसभा भवन में हो जाये़ आठ अगस्त तक सत्र आहूत करना है़ विधानसभा के नये भवन के काम की मॉनिटरिंग हो रही है़। विधानसभा का नया भवन समय सीमा के अंदर बन जाना चाहिए, ऐसी उम्मीद है़ – दिनेश उरांव, विधानसभा अध्यक्ष विधानसभा की नयी बिल्डिंग लगभग बन कर तैयार है।फिनिशिंग का काम तेजी से चल रहा है। लैंडस्केपिंग कर पौधरोपण किये जा रहे हैं। सड़क पर भी काम शुरू कर दिया गया है। नये भवन को आठ अगस्त के पूर्व हैंडओवर करने का लक्ष्य रखा गया है। माॅनसून सत्र आयोजित कराने के लिए पूरा-पूरा प्रयास किया जा रहा है।- सुनील कुमार, सचिव, भवन निर्माण विभाग

Recent Posts

%d bloggers like this: