October 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

जान दे देंगे लेकिन पंडरा नदी को मिटने नहीं देंगे

रांची :- जुडको द्वारा नया टोली स्थित पंडरा नदी के किनारे 470 आवासों का निर्माण किया जाना है । इस योजना का वहां के ग्रामीण लगातार विरोध कर रहे है़ं इसी कड़ी में शुक्रवार को ग्रामीणों ने कहा कि जान दे देंगे लेकिन अपने धर्म और पंडरा नदी के अस्तित्व की रक्षा करेंगे़ मामले के निबटारे के लिए रांची एसडीओ गरिमा सिंह को निर्माण स्थल पर संध्या पांच बजे जाना था, लेकिन तबीयत खराब होने के कारण हेहल के अंचलाधिकारी गये़ ।

वहां सैकड़ों ग्रामीण अपनी बात रखने के लिए उपस्थित थे़ बातचीत के दौरान सीओ को विरोध का सामना करना पड़ा । काफी समझाने के बाद भी बात नहीं बनता देख उन्होंने कहा कि आपकी बातों को उच्च अधिकारियों तक पहुंचा दिया जायेगा । अनुमंडलाधिकारी के साथ जल्द ही बैठक करायी जायेगी़ ।

महिलाओं ने कहा कि यह जमीन भले ही गैरमजरूआ है लेकिन हमलोगों का सरना स्थल है । यहां हमलोग पूजा पाठ करते हैं, हमारा हड़गड़ी और मसना भी है़ यहां हमलोग मृत लोगों का अंतिम संस्कार करते हैं । निर्माण कार्य में खुदाई होगी जिससे उनकी आत्मा को पीड़ा होगी । इतना ही नहीं यहां छठ पूजा में लाखों श्रद्धालु पूजा के लिए आते हैं । नदी गंदी हो जायेगी तो पूजा के लिए कहां जायेंगे़ ।

पूरे पंडरा में एक मात्र खुला स्थान है, जहां बच्चे खेलते हैं । ग्रामीणों ने कहा कि पंडरा नदी हमारी जिंदगी है़ पूरे पंडरा गांव में एक मात्र खुला स्थान यही है, जहां बच्चे खेलते हैं । लोग सुबह में घूमने आते हैं । इस कारण यहां फ्लैट का निर्माण नहीं होने देंगे । सबसे बड़ी बात है की यहां से कुछ ही दूरी पर कांके डैम है इसका मुख्य स्रोत पंडरा नदी ही है ।
शहर की बड़ी आबादी कांके डैम पर जल के लिए निर्भर है । फ्लैट बन जाने से करीब 3000 से अधिक लोग बसेंगे और नाली का सारा गंदा पानी नदी में ही गिरेगा, जिससे नदी प्रदूषित होगी । लोग गंदगी फेंकेंगे तो नदी धीरे-धीरे गंदगी से भर जायेगी और इसका अस्तित्व समाप्त हो जायेगा ।
पानी की किल्लत हो जायेगी । ग्रामीणों ने कहा कि निर्माण कार्य का सीधा असर डैम के जल स्तर पर पड़ेगा । डैम प्रदूषित होगा । साथ ही वाटर लेवल भी नीचे चला जायेगा । जैसा कि शहर के अन्य जगहों पर हो रहा है ।
हमलोगों के लिए पानी की भारी किल्लत हो जायेगी । हमारे बच्चों का भविष्य खतरे में पड़ जायेगा । निर्माण होने के बाद यहां खाली पड़े भूखंड पर अतिक्रमण कर लिया जायेगा या दलाल गलत कागज बनाकर नदी की जमीन को ही बेच देंगे़ ग्रामीणों ने कहा कि प्रभात खबर द्वारा प्रमुखता इस मुद्दा को उठाया था,जो बिल्कुल सही है़ ।

Recent Posts

%d bloggers like this: