October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

IMF के इस कदम से आसमान छूएगी पाकिस्तान में महंगाई, टूटेगी पाकिस्तानियों की कमर

पाकिस्तान को बचाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) एक शर्त रखी है जिसके अनुसार दो वर्षों में पाकिस्तान को 700 अरब रुपये का टैक्स छूट वापस लेना होगा ।

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था काफ़ी डगमगा चुकी है । आतंकवाद के मसले पर पाकिस्तान की दोहरी मानसिकता के चलते वैश्विक स्तर पर उसे व्यापार नहीं मिल है । नतीजा देश के भीतर महंगाई चरमसीमा पर पहुंच चुकी है । कंगाल पाकिस्तान को बचाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF)ने एक शर्त रखी है जिसके अनुसार दो वर्षों में पाकिस्तान को 700 अरब रुपये का टैक्स छूट वापस लेना होगा । आईएमएफ के शर्त पर पाकिस्तान ने अपनी सहमति दे दी है । टैक्स छूट वापस लेने के कारण पाकिस्तान में महंगाई और आसमान पर पहुंच जाएगा ।
डॉन में छपी रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान दो वर्ष में 700 अरब रुपये का टैक्स छूट वापस लेगा । आईएमएफ का कहना है कि पाकिस्तान के इस कदम से बिजली और गैस की कीमतें बढ़ेंगी । इससे पाकिस्तान में और भी महंगाई बढ़ेगी
बुधवार को अपनी चर्चाओं के दौरान, दोनों पक्षों ने अगले वित्त वर्ष, 2019-20 के लिए लगभग 11 बिलियन डॉलर का फाइनेंसिंग गैप किया । इसके तहत, सरकार 2019-20 के बजट में 350 अरब रुपये के आसपास विभिन्न करों में दी गई छूट वापस लेना शुरू कर देगी

Recent Posts

%d bloggers like this: