October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मेदिनीनगर निवासी कस्टम अधिकारी के आवास से 1.18 करोड़ नकदी बरामद

रांची :- मेदिनीनगर के कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता के खिलाफ आय से अधिक की संपत्ति की जांच कर रही सीबीआइ की गोवा टीम को छानबीन में एक करोड़ 18 लाख 50 हजार रुपये नकदी मिले हैं। सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो गोवा की टीम को प्रारंभिक छानबीन में कस्टम अधिकारी के पास 19 लाख, चार हजार 261 रुपये अधिक की संपत्ति मिली थी, जिसके मामले में 30 मार्च 2019 को प्राथमिकी दर्ज की थी। छानबीन के दौरान पता चला कि कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता के पिता ने डालटनगंज के अपने बैंक खाते से 1.19 करोड़ रुपये की निकासी कर ली है। इसके बाद सीबीआइ की गोवा टीम ने कस्टम अधिकारी व उनके पिता के ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन चलाया, जिसमें दो सूटकेस से एक करोड़, 18 लाख, 50 हजार रुपये नकदी की बरामदगी हुई। इसके बाद आयकर अधिकारियों ने कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता व उनके पिता को गिरफ्तार किया और शुक्रवार को न्यायालय में प्रस्तुत करने के बाद उन्हें 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

प्रेम प्रकाश गुप्ता गोवा के हार्बर मोरमुगा के कस्टम हाउस में कस्टम के डिप्टी कमिश्नर के कार्यालय में प्रिवेंटिव ऑफिसर (वर्तमान में गोवा कस्टम के निगरानी विभाग में) के पद पर कार्यरत हैं। वे गोवा के जुआरी नगर के चौगुले गार्डेन स्थित सर्वोदय बिल्डिंग के हाउस नंबर दो में रहते थे।

सीबीआइ को गुप्त सूचना मिली थी कि कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता ने भ्रष्टाचार से अकूत संपत्ति अर्जित की है। इस मामले की सीबीआइ की एसीबी गोवा की टीम ने प्रारंभिक जांच की। इसके लिए जनवरी 2011 से नवंबर 2018 तक का चेक पीरियड लिया। इस आठ साल में उनके पास आय से 19 लाख, चार हजार 261 रुपये अधिक मिले जो, आय से 53.16 प्रतिशत अधिक थे। जब उनसे उक्त राशि के बारे में जवाब मांगा गया तो वे संतोषजनक जवाब नहीं दिए। इसके बाद सीबीआइ ने 30 मार्च 2019 को उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर विधिवत अनुसंधान शुरू की।

रांची :- मेदिनीनगर के कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता के खिलाफ आय से अधिक की संपत्ति की जांच कर रही सीबीआइ की गोवा टीम को छानबीन में एक करोड़ 18 लाख 50 हजार रुपये नकदी मिले हैं। सीबीआई की भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो गोवा की टीम को प्रारंभिक छानबीन में कस्टम अधिकारी के पास 19 लाख, चार हजार 261 रुपये अधिक की संपत्ति मिली थी, जिसके मामले में 30 मार्च 2019 को प्राथमिकी दर्ज की थी। छानबीन के दौरान पता चला कि कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता के पिता ने डालटनगंज के अपने बैंक खाते से 1.19 करोड़ रुपये की निकासी कर ली है। इसके बाद सीबीआइ की गोवा टीम ने कस्टम अधिकारी व उनके पिता के ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन चलाया, जिसमें दो सूटकेस से एक करोड़, 18 लाख, 50 हजार रुपये नकदी की बरामदगी हुई। इसके बाद आयकर अधिकारियों ने कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता व उनके पिता को गिरफ्तार किया और शुक्रवार को न्यायालय में प्रस्तुत करने के बाद उन्हें 14 दिनों के न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

प्रेम प्रकाश गुप्ता गोवा के हार्बर मोरमुगा के कस्टम हाउस में कस्टम के डिप्टी कमिश्नर के कार्यालय में प्रिवेंटिव ऑफिसर (वर्तमान में गोवा कस्टम के निगरानी विभाग में) के पद पर कार्यरत हैं। वे गोवा के जुआरी नगर के चौगुले गार्डेन स्थित सर्वोदय बिल्डिंग के हाउस नंबर दो में रहते थे।

सीबीआइ को गुप्त सूचना मिली थी कि कस्टम अधिकारी प्रेम प्रकाश गुप्ता ने भ्रष्टाचार से अकूत संपत्ति अर्जित की है। इस मामले की सीबीआइ की एसीबी गोवा की टीम ने प्रारंभिक जांच की। इसके लिए जनवरी 2011 से नवंबर 2018 तक का चेक पीरियड लिया। इस आठ साल में उनके पास आय से 19 लाख, चार हजार 261 रुपये अधिक मिले जो, आय से 53.16 प्रतिशत अधिक थे। जब उनसे उक्त राशि के बारे में जवाब मांगा गया तो वे संतोषजनक जवाब नहीं दिए। इसके बाद सीबीआइ ने 30 मार्च 2019 को उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर विधिवत अनुसंधान शुरू की।

Recent Posts

%d bloggers like this: